मिश्री खाने से शरीर को क्या-क्या लाभ मिलता है?

मिश्री खाने से शरीर को बहुत लाभ मिलते हैं। कई बीमारियों में मिश्री को किसी चीज के साथ भी सेवन करने की सलाह दी जाती है। इसके लाभ इस प्रकार है:- 1. मिश्री खाने से मुंह का स्वाद अच्छा हो जाता है। 2. मिश्री को मुंह में रखने से शारीरिक कमजोरी और थकान दूर हो जाती है। 3. पानी में मिश्री घोलकर पीने से शरीर को एनर्जी मिलती है। 4. अगर गले में खराश हो रही हो तो मिश्री को मुंह में रखें और इसे धीरे-धीरे चूसते रहे, इससे गला…

हरी इलायची खाने से क्या लाभ होता है?

हरी इलायची में बहुत सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो हमें कई सारी गंभीर बीमारियों से बचाते है। अगर आप गैस, एसिडिटी और पेट की समस्या से ग्रस्त हैं, तो हमेशा खाने के बाद हरी इलायची का सेवन करें। हरी इलायची सांस की बीमारी में भी बेहद फायदेमंद होती है। क्योंकि इलायची की तासीर गर्म होती है। दिमाग मजबूत करने, आंखों की रोशनी बढ़ाने व याद्दाश्त बढ़ने में हरी इलायची बहुत मददगार है। हरी इलायची का सेवन करने से पेट में अल्सर की समस्या से छुटकारा मिलता है। यदि…

मुनक्का खाने के क्या फायदे हैं,खाने के सही तरीके क्या हैं ?

मुनक्का खाने के फायदे तथा 26 बेहतरीन औषधीय गुण मुनक्का (Raisin) या दाख न केवल कई बीमारियों को दूर रखता है बल्कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है इसीलिए आयुर्वेद में तो इसे औषधीय गुणों का भंडार बताया गया है। मुनक्का के स्वास्थ्य वर्धक गुण इसमें मौजूद शर्करा (ग्लूकोज) की मात्रा से है। इसमें अंगूर की तुलना में आठ गुना अधिक शर्करा रहती है। इसमें मौजूद शर्करा अंगूर की तरह उत्तम प्रकार की होती है, क्योंकि इस शर्करा का अधिकतर हिस्सा ग्लूकोज और फलों की शर्करा से…

इंसान के पेट में एसिडिटी होने की वजह क्या है और इसका घरेलू उपचार क्या है?

एसिडिटी के घरेलू उपचार एसिडिटी तब होता है जब हमारे पेट में खाना नहीं पचता और पेट में ही सड़ने लगता है. पेट में खाना के सड़ने के कारण ही पेट में जलन, गैस और बदबू जैसी समस्या होती है. और पेट में खाना ने पचाने के कई कारण हो सकते है. जैसे की खाना खाने के तुरंत बाद पानी पी लेना, जादा हैवी खाना खाना, पाचनशक्ति का कमजोर होना आदि. ऐसे ही कई और कारण भी होते है एसिडिटी के. एसिडिटी के घरेलू उपचार गर्म पानी: ये सबसे अच्छा…

कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय क्या हैं?

बहुत ज्‍यादा संतृप्‍त वसा (saturated fat) खाने से कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर बढ़ जाता है। इसलिए हमें उन खाद्य पदार्थों का नियंत्रित सेवन करना चाहिए जो संतृप्‍त वसा में उच्‍च होते हैं जैसे कि : मक्‍खन, कड़ा और नकली मक्‍खन, चरबी, वसा (goose fat), फैटी मांस और मांस उत्‍पाद, पूर्ण वसा पनीर, दूध, क्रीम और दही, वनस्‍पति तेल, नारियल क्रीम (coconut cream) आदि का सेवन बहुत की कम मात्रा में आवश्‍यक होने पर ही करना चाहिए। इनके अतिरिक्‍त दूध चॉकलेट, टोफी, केक, पेस्‍ट्री, पाई और वासा में समृद्ध बिस्‍कुट जैसे कई…

दिन में कितनी बार भोजन करना चाहिए ?

जानिए, सेहत के लिए दिन में कितनी बार खाना है अच्छा हम में ज्यादातर लोग दिन में केवल 3 टाइम खाना खाने पर जोर देते हैं. वो 3 समय हैं ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर. कुछ लोग ऐसे भी हैं जो दिनभर में 4-5 बार थोड़े-थोड़े समय पर कुछ ना कुछ खाना पसंद करते हैं. जबकि कुछ लोगों का मानना है कि दिन में तीन बार खाने से सेहत अच्छी रहती है. क्योंकि इस तरह खाने से खाना सही तरीके से हजम हो जाता है. वहीं कुछ लोगों का कहना है…

अपने लिवर, आंतो और किडनी को डिटॉक्सीफाई करने के कौन से उपाय हैं ?

detox smoothie: शरीर से टॉक्सिन्स निकालने के लिए आप कुछ सेहतमंद स्मूदी का सेवन करना चाहिए। ये स्मूदी बीमारियों से रक्षा करने के लिए भी लाभकारी होती है। detox smoothie: शरीर को स्वस्थ रखने के लिए स्वास्थ्यवर्धक खान-पान की बेहद जरुरत होती है। अस्वास्थ्यवर्धक खाद्य पदार्थों का सेवन करने से शरीर में टॉक्सिन एकत्रित हो जाते हैं जो कि अंगों को डैमेज कर सकते हैं इसलिए शरीर को डिटॉक्स करना जरुरी होता है। शरीर को डिटॉक्स करने के लिए आप कुछ स्वास्थ्यवर्धक स्मूदीज का सेवन कर सकते हैं। इन स्मूदीज…

खाली पेट गुड़ खाने व जीरे का पानी पीने के क्या-क्या लाभ हैं?

खाली पेट गुड़ और जीरे का पानी पीने के 5 बड़े फायदे! जीरा और गुड़ यूं तो हमारे खाने का बहुत ही अहम हिस्सा है लेकिन क्या आपको पता है गुड़ और जीरे का पानी आपको कई बीमारियों से बचा सकता है. जीरा हर घर में मसालों के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. ये हमारे खाने के स्वाद और खुशबू को बढ़ा देता है. बिना जीरे के तड़के के सब्जी, दाल और रायते का स्वाद फीका सा लगता है. वहीं गुड़ की मिठास से मीठे पकवानों का जायका और…

जिमीकंद के फायदे व नुकसान क्या हैं?

जिमीकंद सिर्फ सब्जी भर नहीं है, बल्कि स्वास्थ्य के लिहाज से प्राकृतिक जड़ी-बूटी जैसे फायदे भी हैं। यह दिखने में हाथी के पैर जैसा लगता है, इसलिए इसे एलीफैंट फुट याम भी कहा जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम अमोरफोफ्लस पाओनीफोलिअस (Amorphophallus Paeoniifolius) है[1] । इसे अंग्रेजी में याम (Yam) के नाम से भी जाना जाता है। जिमीकंद एक कंद के रूप में होता है और यह अपने आप ही उगता है, लेकिन इसके गुणों को देखते हुए पिछले कुछ सालों से इसकी खेती भी की जाने लगी है। ये कई…

तेज़ पत्ता खाने से क्या फायदे होते हैं ?

तेजपत्ते में कई तरह के प्रमुख लवण जैसे कॉपर, पोटैशियम, कैल्शियम, गैगनीज, सेलेनियम और आयरन पाया जाता है. हालांकि बहुत कम लोगों को ही पता होगा कि तेजपत्ता खाने का स्वाद और खुशबू बढ़ाने के साथ ही एक बेहद फायदेमंद मसाला भी है. तेजपत्ते के फायदे : 1. अगर आपको पाचन से जुड़ी समस्याएं हैं तो आप तेजपत्ते का इस्तेमाल कर सकते हैं. पेट से जुड़ी कई समस्याओं में ये कारगर उपाय है. चाय में तेजपत्ते का इस्तेमाल करके कब्ज, एसिडिटी और मरोड़ जैसी समस्याओं से राहत पा सकते हैं.…