3 दिवसीय भारत दौरे पर ईरान के राष्ट्रपति हसन रोहानी

नई दिल्ली: ईरान के राष्ट्रपति हसन रोहानी गुरुवार को तीन दिन की यात्रा पर भारत आ रहे हैं. रोहानी की यह भारत यात्रा दोनों देशों के लिए बेहद अहम है. रोहानी  की यात्रा के दौरान भारत और ईरान ‘आपसी हित’ के क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे. ईरान के राष्ट्रपति की यात्रा की घोषणा करते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा कि रूहानी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्विपक्षीय संबंधों में हासिल की गई प्रगति की समीक्षा करेंगे. बता दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी वर्ष 2016 में ईरान की यात्रा पर गए थे.

वेस्ट एशिया पॉलिसी पर नजर
ईरानी राष्ट्रपति के दौरे के दौरान भारत की नजर वेस्ट एशिया पॉलिसी पर है. बता दें कि भारत अपनी वेस्ट एशिया पॉलिसी के तहत ईरान को अहम साथी बनाना चाहता है. ईरान में जो चाबहार पोर्ट का निर्माण किया जा रहा है वह भारत की करवा रहा है. मोदी की 2016 में ईरान यात्रा के दौरान करीब एक दर्जन से अधिक समझौते पर हस्ताक्षर किये गये थे. भारत और ईरान के बीच मजबूत आर्थिक और वाणिज्यिक संबंध है. विदेश मंत्रालय के अनुसार भारत और ईरान के बीच द्विपक्षीय व्यापार 2016-17 में 12.89 अरब डालर था.

5 साल बाद ईरानी राष्ट्रपति का भारत दौरा
हैदराबाद में आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि रोहानी  गुरुवार बेगमपेट हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे और बाद में मुस्लिम बुद्धिजीवियों, विद्वानों एवं धर्मगुरूओं को संबोधित करेंगे. अगस्त 2013 में ईरान के राष्ट्रपति का पदभार संभालने के बाद यह रोहानी  की पहली भारत यात्रा होगी. मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘ईरान के राष्ट्रपति की आगामी यात्रा के दौरान दोनों पक्ष द्विपक्षीय संबंधों की प्रगति की समीक्षा करेंगे और आपसी हित के क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान भी करेंगे.’ नई दिल्ली में महत्वपूर्ण द्विपक्षीय एवं क्षेत्रीय मुद्दों पर मोदी एवं अन्य भारतीय नेताओं से गहन वार्ता के अलावा ईरानी नेता शनिवार को ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन (ओआरएफ) में एक विशेष व्याख्यान देंगे.

हैदराबाद की मक्का मस्जिद में पढ़ेंगे नमाज
रोहानी  की यात्रा से पहले ईरानी मीडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, मुलाकातों के दौरान रोहानी और भारतीय नेता नवीनतम क्षेत्रीय एवं वैश्विक घटनाक्रम और चाबहार पोर्ट को जल्द से जल्द अंतिम रूप दिए जाने पर चर्चा करेंगे. साल 2016 में मोदी की ईरान यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच कई समझौतों पर दस्तखत किए गए थे. सूत्रों के मुताबिक, रोहानी 16 फरवरी को नई दिल्ली रवाना होंगे. उन्होंने बताया कि रूहानी हैदराबाद की मक्का मस्जिद में जुमे की नमाज अदा करने के बाद वहां एक सभा को संबोधित करेंगे. वह गोलकोंडा के कुतुब शाही मकबरे सहित कई ऐतिहासिक स्थलों की सैर करेंगे.

Related posts

Leave a Comment