घुसपैठियों से निपटने के लिए तैयार है BSF, अत्याधुनिक हथियारों संग शुरू होगा ऑपरेशन ‘सर्द हवा’

नई दिल्ली: जैसलमेर से लगती भारत-पाक बॉर्डर पर सीमा सुरक्षा बल का ऑपरेशन ‘सर्द हवा’ के नाम से शुक्रवार से शुरू होगा जो 30 जनवरी तक चलेगा. कड़ाके की ठंड और कोहरे के दौरान इस ऑपरेशन को राजस्थान सीमा के सभी सेक्टरों में एक साथ शुरू किया जाएगा. ऑपरेशन सर्द हवा 30 जनवरी तक चलेगा. सीमा चौकियों पर तैनात जवान और अधिकारियों के साथ इसमें सेक्टर एवं बटालियन मुख्यालय के अधिकारी एवं जवान भी हिस्सा लेंगे. ऑपरेशन के दौरान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर नाकों की संख्या बढ़ाई जाएगी और पैदल गश्त का दायरा भी बढ़ाया जाएगा.

आपको बता दें कि ऑपरेशन सर्द हवा उन्हीं दिनों में शुरू किया जाता है जब कड़ाके की ठंड होती है और रात के समय घना कोहरा छाता है. दरअसल कोहरे के कारण घुसपैठ की आशंका बढ़ जाती है. इस घुसपैठ को विफल करने के लिए ही बीएसएफ ऑपरेशन सर्द हवा के माध्यम से बॉर्डर पर चौकसी बढ़ाती है.

बीएसएफ सूत्रों ने बताया कि ऑपरेशन सर्द हवा के दौरान बॉर्डर पर तैनात जवानों को सीमा की चौकसी के काम आने वाले अत्याधुनिक उपकरणों को जांचने और परखने का मौका मिलेगा. यह उपकरण सेक्टर और बटालियन मुख्यालयों से भेजे गए हैं. ऑपरेशन में जवानों का परिचय बीएसएफ को मिले अत्याधुनिक हथियारों से होगा और उन्हें अत्याधुनिक उपकरणों एवं हथियारों के प्रशिक्षण का मौका भी मिलेगा.

ऑपरेशन सर्द हवा के दौरान जवानों को अत्याधुनिक उपकरणों एवं हथियारों की कार्य प्रणाली को जानने का मौका मिलेगा, वहीं उन्हें सीमावर्ती गांवों के लोगों से संपर्क एवं पुलिस से समन्वय का प्रशिक्षण भी मिलेगा. ऑपरेशन के दौरान जवान सीमा पर की गई तारबंदी को सुधारने, तारबंदी के आसपास झाड़-झंखाड़ की सफाई आदि कामों को भी अंजाम देंगे. इस ऑपरेशन के दौरान सीमावर्ती थानों की पुलिस भी बीएसएफ के साथ रहेगी.

Related posts

Leave a Comment