मुथैया मुरलीधरन से आगे निकले कुलदीप यादव, चहल भी हैं पछाड़ने को तैयार

नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका को मंगलवार देर रात अपने घर में पांच वनडे मैचों से ज्यादा की सीरीज में तीसरी सबसे बुरी सीरीज हार का सामना करना पड़ा है. भारत ने उसे पांचवें वनडे में मात देकर 4-1 से सीरीज अपने नाम कर ली है. यह भारत की दक्षिण अफ्रीका में पहली वनडे सीरीज जीत है तो वहीं दक्षिण अफ्रीका की घर में सबसे बुरी सीरीज हारों में से एक. इससे पहले दक्षिण अफ्रीका को ऑस्ट्रेलिया ने पांच मैचों से ज्यादा की सीरीज में दो बार घर में हार सौंपी है. ऑस्ट्रेलिया ने 1996-97 में दक्षिण अफ्रीका को 4-3 से मात दी थी. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने ही साल 2001-02 में मेजबान टीम को 5-1 से हराया था.

उस हार के 18 साल बाद दक्षिण अफ्रीका को भारत ने उसके घर में एक और करारी दी है. भारत ने शुरुआती तीन मैच जीतकर अपने आप को सीरीज न हारने की स्थिति में पहुंचा दिया था, लेकिन दक्षिण अफ्रीका ने चौथा वनडे जीत सीरीज में वापसी की उम्मीद जताई थी. भारत ने मंगलवार (13 फरवरी) को खेले गए मैच में दक्षिण अफ्रीका को 73 रनों से मात देते हुए सीरीज पर 4-1 से कब्जा जमाया और दक्षिण अफ्रीका को घर में सीरीज हार पर मजबूर किया.

मेजबान टीम की इस सीरीज में हार का एक बड़ा कारण भारत की कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्पिन जोड़ी रही है. इन दोनों को खेलना मेजबान टीम के बल्लेबाजों के लिए टेढ़ी खीर साबित हुआ है. कुलदीप यादव और युजवेंद्र की फिरकी में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज बुरी तरह से फंसते हुए नजर आए.

कुलदीप ने अभी तक 11.56 की औसत से 16 विकेट लिए हैं. वहीं, युजवेंद्र चहल ने 16 की औसत से 14 विकेट लिए हैं. यह जोड़ी सिर्फ वांडरर्स में खेले गए चौथे वनडे मैच ही विफल रही थी और इस मैच को मेजबान टीम जीतने में सफल रही थी. दोनों ने मिलकर इस सीरीज में अभी तक 30 विकेट अपने नाम किए हैं. यह किसी भी द्विपक्षीय सीरीज में भारतीय स्पिनरों द्वारा लिए गए सबसे ज्यादा विकेट हैं. इससे पहले भारतीय स्पिनरों ने घर में 2005-06 में इंग्लैंड के खिलाफ 27 विकेट लिए थे.

कुलदीप यादव ने मुरलीधरन को छोड़ा पीछे 
दक्षिण अफ्रीका में शानदार प्रदर्शन करके टीम इंडिया के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने श्रीलंका के दिग्गज गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन को भी पीछे छोड़ दिया है. बता दें कि दक्षिण अफ्रीका में वनडे सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट चटकाने का रिकॉर्ड मुथैया मुरलीधरन के नाम था, जिस पर अब कुलदीप ने अपना कब्जा जमा लिया है.  मुथैया मुरलीधरन ने 1998 में दक्षिण अफ्रीका में 14 विकेट लिए थे. हालांकि, यह एक ट्राई सीरीज थी और इसमें पाकिस्तान भी शामिल था. 6 वनडे मैचों की सीरीज के अब तक पांच मैच खेले जा चुके हैं. इन पांचों मैचों में कुलदीप यादव अब तक 16 विकेट ले चुके हैं और इस रिकॉर्ड को अपने नाम कर चुके हैं. इस मामले में दूसरे नंबर पर युजवेंद्र चहल, मुरलीधरन के साथ हैं. उन्होंने इस वनडे सीरीज में अभी तक 14 विकेट लिए हैं.

चहल-कुलदीप ने तोड़ा वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर का रिकॉर्ड
कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने दक्षिण अफ्रीका में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करके रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा दी है. भारत के इन नए कलाई के ‘जादूगरों’ ने ओवरसीज में सर्वाधिक विकेट लेने वाले वेस्टइंडीज ऑलराउंडर कीथ अथर्टन का रिकॉर्ड तोड़ा है. कुलदीप और युजवेंद्र अब ओवरसीज में एक वनडे सीरीज में सर्वाधिक विकेट लेने वाले स्पिन गेंदबाज बन गए हैं. बता दें कि कीथ अथर्टन  ने 1998-99 में सात वनडे मैचों की सीरीज में 12 विकेट लेकर वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम किया था.

इस रिकॉर्ड में अबतक कुलदीप हैं चहल से आगे 
दक्षिण अफ्रीका में अब किसी भी स्पिन गेंदबाज द्वारा सर्वाधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड कुलदीप यादव के नाम है. उनके बाद दूसरे नंबर पर युजवेंद्र चहल हैं. हालांकि, अभी इस सीरीज का एक मैच बाकी है. वहीं, तीसरे नंबर पर खिसकने वाले अथर्टन के पीछे 11 विकेट के साथ ऑस्ट्रेलिया के स्पिन गेंदबाज शेन वॉर्न हैं. उन्होंने 8 मैचों की सीरीज में यह कारनामा किया था.

Related posts

Leave a Comment