विराट कोहली अब तक तय नहीं कर पाए कौन करेगा ओपनिंग, असमंजस में फंसे

जोहानिसबर्ग : दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला मैच हारने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम की मुश्किलें बढ़ गई हैं, क्योंकि केपटाउन जैसी ही पिच का सामना उसे सेंचुरियन में शनिवार से होने वाले दूसरे टेस्ट मैच में करना है. ऐसे में अगर भारत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में हार से बचना है, तो उसे सेंचुरियन के सुपर स्पोर्ट पार्क में होने वाले दूसरे टेस्ट को हर हाल में पास करना होगा. उसके सामने अभी सलामी जोड़ी को लेकर भी हजार सवाल हैं, कि वह किसे उतारें और किसे छोड़ें.

केपटाउन के न्यूलैंड्स क्रिकटे मैदान पर खेले गए पहले टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 72 रनों से पराजित कर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल की थी. दूसरे मैच की  लड़ाई शुरू होने वाली है, लेकिन टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने मैच से एक दिन पहले कहा कि वह अभी तक तय नहीं कर पाए हैं कि दूसरे टेस्ट में ओपनिंग कौन करेगा. पहले मैच में शिखर धवन के फ्लॉप रहने के बाद यह कहा जा रहा है कि उन्हें हटाकर केएल राहुल को मौका देना चाहिए.

मैच से एक दिन पहले उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, हम आखिरी प्रैक्टिस के बाद तय करेंगे कि ओपन कौन करेगा. हमारे लिए ये चिंता का विषय नहीं है. हम इसे लेकर परेशान भी नहीं हैं.  पिछले मैच में नजर डाली जाए, तो भारत के तेज गेंदबाजों ने अपनी भूमिका बखूभी निभाई थी, लेकिन उसके बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों का सामना नहीं कर पाए.

दक्षिण अफ्रीका के कोच ओटिस गिब्सन ने कहा था कि वह चार तेज गेंदबाजों के साथ आगे के मैच खेलना चाहेंगे. अगर मेजबान टीम की यहीं रणनीति है, तो भारत के लिए दूसरा टेस्ट जीतना नामुमकिन हो सकता है, क्योंकि दूसरी पारी में डेल स्टेन जैसे दिग्गज गेंदबाज की अनुपस्थिति के बावजूद दक्षिण अफ्रीका ने पहले टेस्ट में भारत को घुटने टेकने पर मबजबूर कर दिया था.

भारतीय टीम को दूसरा टेस्ट मैच जीतने के लिए अपनी बल्लेबाजी मजबूत करनी होगी, ताकि वह 208 रनों जैसे लक्ष्य को हासिल करने में चूके न.  साल 2001 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पदार्पण मैच में शतक लगाने वाले भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि टीम के लिए इस सीरीज में वापसी की उम्मीद न के बराबर है। उनका कहना है कि सेंचुरियन टेस्ट मैच में भारत को छह बल्लेबाजों और चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरना चाहिए.

Related posts

Leave a Comment