विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप: मंजू रानी, डेब्यू में ही सिल्वर मेडल पर किया कब्जा

विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप (AIBA World Boxing Championship) में 48 किग्रा के फाइनल में मंजू रानी (Manju Rani) को 4-1 से हार का सामना करना पड़ा

उलान उदे (रूस). वर्ल्ड वीमंस बॉक्सिंग चैंपियनशिप (AIBA World Boxing Championship) में जिस तरह से मंजू रानी (Manju Rani) का सफर आगे बढ़ रहा था, उससे उन्हें खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था. लेकिन 48 किग्रा भार वर्ग के खिताबी मुकाबले में उन्हें रूस की दूसरी वरीय एकट्रिना पॉल्टकेवा से 4-1 से हार का सामना करना पड़ा. इसी के साथ मंजू रानी (Manju Rani) को सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा. भले ही मंजू को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा हो, लेकिन उन्हाेंने यहां तक पहुंचकर इतिहास रच दिया.

भारत की दिग्गज मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम के पसंदीदा भार वर्ग में उतरी मंजू वर्ल्ड चैंपियनशिप में डेब्यू करते हुए 18 साल में पहली बार फाइनल में पहुंचने वाली भारतीय महिला बॉक्सर बन गई हैं. उन्होंने टूर्नामेंट की शीर्ष वरीय नॉर्थ कोरिया की किम को मात देकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था. पहले राउंड में मंजू और रूस की मुक्केबाज दोनों ने ही धीमी शुरुआत की. लेकिन इस राउंड में विपक्षी खिलाड़ी को जब भी मौके मिले, उन्होंने अंक बटोरे. हालांकि पहले राउंड के आखिरी के डेढ़ मिनट में मंजू से शानदार जैब लगाया. लेकिन उनके इस पंच के जवाब में रूसी खिलाड़ी अधिक आक्रामक हो गई.

दूसरे राउंड में भारतीय मुक्केबाज ने वापसी करने की कोशिश की और काउंटर अटैक जारी रखा. लेकिन एकट्रिना के फुटवर्क ने उनकी कोशिशों को नाकाम कर दिया. हालांकि दूसरे राउंड में मंजू की तुलना में एकट्रिना डिफेंसिव दिखीं. तीसरा राउंड रूसी खिलाड़ी के नाम रहा. शुरुआती 20 सेकंड में मंजू (Manju Rani) ने सटीक पंच लगाकर आगाज अच्छा किया था, लेकिन इसके वह अपना फोकस नहीं रख पाई और रूसी खिलाड़ी उन पर हावी हो गई. जिसका खामियाजा उन्हें फाइनल गंवाकर चुकाना पड़ा.

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Related posts

Leave a Comment