नई दिल्ली: ‘AAP ने कोर्ट में कहा था Oxygen Shortage से कोई मौत नहीं हुई

संबित पात्रा ने कहा कि कल जिस प्रकार से सदन में एक प्रश्न उत्तर को लेकर राजनीति की गई है, ऑक्सीजन की कमी और उसके कारण हुई मृत्यु को लेकर, यह बहुत अफसोस जनक है।

नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर के दौरान की पीक के दौरान देश के कई राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत हो गई थी। इस दौरान कई राज्यों में ऑक्सीजन की कमी की वजह से मौतों की खबरें भी सामने आई। कल संसद में सरकार द्वारा इन मौतों को लेकर जवाब दिए जाने के बाद से विपक्षी दल भाजपा पर हमलावर हैं। सरकार पर किए जाए हमलों का जवाब दिया भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने।

संबित पात्रा ने कहा कि कल जिस प्रकार से सदन में एक प्रश्न उत्तर को लेकर राजनीति की गई है, ऑक्सीजन की कमी और उसके कारण हुई मृत्यु को लेकर, यह बहुत अफसोस जनक है। उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य ने या किसी भी केंद्र शासित प्रदेश ने ऑक्सीजन की कमी से मृत्यु हुई है, इसपर कोई आंकड़ा नहीं भेजा, किसी ने भी नहीं कहा कि उनके राज्य में ऑक्सीजन की कमी से मृत्यु हुई है, इसलिए इसके आंकड़े नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य का विषय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों का है। केंद्र कहता है कि हम केवल राज्यों के भेजे हुए आंकड़ों को इकट्ठा करते हैं, हम आंकड़े खुद तैयार नहीं करते।

विपक्षी दलों पर हमला भी बोला

आम आदमी पार्टी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि 23-24 अप्रैल की रात को दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में लगभग 21 लोग अपनी जान गंवा बैठे थे। यह बात मीडिया में आई कि ऑक्सीजन कमी हुई है। अगले दिन अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी ने इसपर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि ऑक्सीजन की कमी से 21 लोगों की जान चली गई, पूरा विषय दिल्ली उच्च न्यायालय में गया, दिल्ली उच्च न्यायालय ने कमेटी बनाने को कहा।

पात्रा ने आगे कहा कि 28 अप्रैल को अरविंद केजरीवाल सरकार ने 4 लोगों की कमेटी बनाई कि 21 लोगों की मृत्यु क्यों हुई। उस कमेटी की रिपोर्ट को केजरीवाल सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट में सबमिट किया और उस रिपोर्ट में कहा गया कि कई रोगियों में एक या ज्यादा को-मॉर्बिडीज थी, अस्पताल में सभी लोगों को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया था, इस बात के सबूत नहीं हैं कि इन मरीजों की मृत्यु ऑक्सीजन की कमी से हुई। मरीज बहुत क्रिटिकल थे, उन्हें को-मॉर्बिडीज थी, ऑक्सीजन की कमी से उनकी मृत्यु नहीं हुई है। पात्रा ने कहा कि यह अरविदं केजरीवाल की सरकार लिखित में अपनी कमेटी की रिपोर्ट को दिल्ली हाइकोर्ट में सौंप रही थी।

शिवसेना पर भी साधा निशाना
पात्रा ने शिवसेना पर अटैक करते हुए कहा कि संजय राउत कह रहे थे कि मैं शॉक्ड हूं। पात्रा ने कहा कि झूठ का सहारा लेकर अगर आप राजनीति करते हैं तो हम भी शॉक्ड हैं। महाराष्ट्र की सरकार ने वहां के हाईकोर्ट में कहा था कि राज्य में ऑक्सीजन की कमी से एक भी रोगी की मृत्यु नहीं हुई है। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बयान दिया था कि सच है कि छत्तीसगढ़ में ऑक्सीजन की कमी से किसी रोगी की मृत्यु नहीं हुई।

पात्रा ने कहा कि जब छत्तीसगढ़ ऐसा कह रहा है तो राहुल गांधी आप ऐसी राजनीति क्यों कर रहे हैं, आपकी छत्तीसगढ़ सरकार जब खुद मान रही हैं कि उनके यहां ऑक्सीजन की कमी से मृत्यु नहीं हुई। आप अपने-अपने हाईकोर्ट में तो कुछ कहते हैं, मगर टीवी पर आकर कुछ कहते हैं। पात्रा ने कहा कि वायरस के कारण जितना दुख हुआ है, साथ में कांग्रेस के झूठ के कारण भी दुख हुआ है। हर विषय में झूठ बोलना, हर विषय पर भ्रम फैलाना, और हर विषय में लोगों को बरगलाना, यह राहुल गांधी ने एक ट्विटर ट्रोल की तरह काम किया है। नेता के तौर पर काम नहीं किया है।

‘PM की बैठक में क्यों नहीं आए AAP और कांग्रेस’
संबित पात्रा ने कहा कि अगर केंद्र की सरकार टीम भेज दे कि राज्य में जाइए और वहां से आंकड़े लेकर आइए, तो ये सब लोग कहेंगे कि लोकतंत्र की हत्या हो रही है। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि कल जब पीएम मोदी ने तीसरी लहर की तैयारियों के लिए सभी दलों की बैठक बुलाई तो कांग्रेस और आम आदमी पार्टी क्यों उस बैठक में नहीं गए। आम आदमी पार्टी ने कहा कि हम कोरोना के बारे में सुनना नहीं चाहते जबतक किसानों के बारे में चर्चा न हो।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment