महा राजनीतिक संकट: Shivsena के 40 MLAs एकनाथ शिंदे के साथ, BJP के साथ नई सरकार! उद्धव ठाकरे की गद्दी गई?

एकनाथ शिंदे ने दावा किया है कि शिवसेना के 55 विधायकों में से 40 विधायक उनके साथ हैं. इसके अलावा उनके पास कम से कम 7 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन है. वो अब राज्यपाल से मुलाकात कर अपने गुट के विधायकों को अलग समूह की मान्यता देने की मांग…

नई दिल्ली:  महाराष्ट्र की राजनीति में बीते 24 घंटों में ऐसा बदलाव आया है, जो किसी ने सोचा भी नहीं था. उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने से पहले जिस एकनाथ शिंदे का महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनना तय था, उस एकनाथ शिंदे ने अब शिवसेना के दो तिहाई से अधिक विधायकों के साथ राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है. जी हां, एकनाथ शिंदे ने दावा किया है कि शिवसेना के 55 विधायकों में से 40 विधायक उनके साथ हैं. इसके अलावा उनके पास कम से कम 7 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन है. वो अब राज्यपाल से मुलाकात कर अपने गुट के विधायकों को अलग समूह की मान्यता देने की मांग करने वाले हैं, इसके साथ ही वो बीजेपी के साथ सरकार बनाने में सक्षम हो जाएंगे. इसका साफ सा मतलब है कि उद्धव ठाकरे अब मुख्यमंत्री पद पर बस कुछ ही समय के मेहमान हैं.

गुवाहाटी में 41 विधायकों के साथ डाला डेरा

एकनाथ शिंदे अपने समर्थक विधायकों के साथ 24 घंटों तक सूरत में रहे. शुरुआत में 11-12 विधायकों के उनके साथ होने की खबर आई, जिसमें से 11 विधायक शिवसेना के थे और एक विधायक निर्दलीय था. लेकिन पिछले 24 घंटों में उनके साथ कम से कम 7-8 निर्दलीय विधायक आ चुके हैं और 34 विधायक शिवसेना के साथ आ चुके हैं. अब एकनाथ शिंदे ने कहा है कि सिर्फ शिवसेना के ही 40 विधायक उनके साथ हैं. यानी कि ये संख्या शिवसेना के कुल 55 विधायकों की तुलना में 2 तिहाई से ज्यादा है. अब उन पर दल-बदल कानून लागू नहीं होगा. उनके गुट को अलग मान्यता मिल जाएगी और वो जिसके साथ चाहें, उसके साथ सरकार बना सकते हैं. वहीं, महाराष्ट्र में बीजेपी के पास 106 विधायक हैं. ऐसे में ये आंकड़ा बहुमत से काफी ज्यादा है.

ये है मौजूदा आंकड़ा

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार को 168 विधायकों का समर्थन हासिल था. इसमें शिवसेना के 55, एनसीपी के 53 और कांग्रेस के 44 विधायक शामिल थे. इसके अलावा सपा के 2, पीजीपी के 2, बीवीए के 3 और 9 निर्दलीय विधायकों का समर्थन भी सरकार को हासिल था. वहीं, महाराष्ट्र में मुख्य विपक्षी दल बीजेपी के पास 113 विधायकों का समर्थन है. इसमें बीजेपी के 106, आरएसपी के 1, जेएसएस के 1 और 5 निर्दलीय विधायक शामिल हैं. वहीं, अन्य दलों के पास 5 विधायक हैं. इसमें AIMIM के 2, सीपीआई का (एम) 1 और एमएनएस का 1 विधायक शामिल हैं. अब सारा गणित बदल चुका है.

उद्धव ठाकरे ने बुलाई कैबिनेट बैठक, देंगे इस्तीफा!

इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कैबिनेट बैठक बुलाई है. वो कैबिनेट की बैठक में इस्तीफा देने का प्रस्ताव दे सकते हैं. इसके बाद वो राज्यपाल से मुलाकात भी करेंगे. सूत्रों के मुताबिक वो विधानसभा को भंग करने की सिफारिश भी करेंगे. लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है. क्योंकि अब एकनाथ शिंदे के पास इतने विधायक हैं कि वो कानून शिंदे को रोक भी नहीं सकते. ऐसे में उद्धव ठाकरे की सरकार महज कुछ देर की मेहमान लगती है.

संद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment