CBI को मिले अहम सबूत! आनंद गिरि ने ही अश्लील वीडियो के जरिए नरेंद्र गिरि को धमकाया था!

जानकारी के मुताबिक नरेंद्र गिरी इस धमकी के बाद इतने परेशान थे कि उन्होंने वाराणसी में संतोष दास उर्फ सतुआ बाबा को फोन किया. उन्हें बताया कि आनंद गिरि ने एक कंप्यूटराइज्ड वीडियो तैयार किया है, जो वायरल हो किया जाने वाला है.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) की कथित तौर पर मौत के मामले में आरोपी आनंद गिरी (Anand Giri) की मुश्किलें बढ़ गई हैं. क्योंकि सीबीआई (CBI) को अब एक वीडियो मिला है और जो इस मामले में बड़ा सबूत बन सकता है. असल में कथित अश्लील वीडियो वायरल होने के डर से आत्महत्या कर ली थी, जिसे आनंद गिरि ने तीन लोगों को दिखाया है.

वीडियो देखने वालों में हरिद्वार के दो और प्रयागराज का एक व्यक्ति शामिल है. अखाड़ा परिषद के वर्तमान अध्यक्ष रविंद्र पुरी, महंत नरेंद्र गिरि और आनंद गिरि के बीच फोन पर बातचीत हुई थी और इस बीच आनंद ने महंत नरेंद्र गिरी को धमकी देते हुए कहा था कि उनके पास ऐसा वीडियो है, इंटरनेट मीडिया पर वायरल होते ही जमीन उनके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी.

जानकारी के मुताबिक नरेंद्र गिरी इस धमकी के बाद इतने परेशान थे कि उन्होंने वाराणसी में संतोष दास उर्फ सतुआ बाबा को फोन किया. उन्हें बताया कि आनंद गिरि ने एक कंप्यूटराइज्ड वीडियो तैयार किया है, जो वायरल हो किया जाने वाला है. यह भी बताया गया कि आनंद ने उस वीडियो में हरिद्वार के दो और प्रयागराज के एक व्यक्ति को दिखाया था और इसके बाद महंत ने अपने कई शिष्यों और करीबियों से से भी जानकारी ली थी कि क्या कंप्यूटर से छेड़छाड़ कर आपत्तिजनक वीडियो बनाया जा सकता है. इस बात को सुनकर वह बहुत परेशान हो गए थे. जब लोगों ने उन्हें बताया कि ऐसा हो सकता है तो नरेन्द्र गिरी परेशान हो गए और उन्होंने कहा कि उनकी प्रतिष्ठा दांव पर है.

मई से किया जा रहा था परेशान

फिलहाल सीबीआई इसकी जांच कर रही है और महंत की मौत मामले की जांच के दौरान केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को एक ऑडियो बरामद किया है, जिसमें यह बात सामने आई है और ये चलता है कि महंत नरेन्द्र गिरी को मई से परेशान किया जा रहा था और वह दबाव में थे. जिसके कारण उन्हें आत्महत्या करनी पड़ी.

जांच एजेंसी ने कोर्ट में दाखिल आरोपपत्र (चार्जशीट) में भी इन तथ्यों को भी शामिल किया है. फिलहाल अभी तक सीबीआइ कथित अश्लील वीडियो बरामद नहीं कर सकी है और माना जा रहा है कि अगर सीबीआई को ये वीडियो मिलता है तो उसे आरोपपत्र में शामिल किया जाएगा.

सीबीआई को मोबाइल से मिले दो वीडियो

इस मामले की जांच कर रही है सीबीआइ ने जांच के दौरान महंत नरेंद्र गिरि के मोबाइल से दो वीडियो बरामद किए थे. वीडियो महंत नरेंद्र गिरी ने ही बनाया था और इसकी पुष्टि के लिए सीबीआइ ने उनके शिष्यों, सेवादारों को दिखाया. उन्होंने महंत की पहचान और उनकी आवाज की पहचान की थी. इसमें महंत ने आनंद गिरि, आद्या प्रसाद और संदीप को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया था.

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment