मुंबई: समंदर में भारत की और बढ़ी ताकत, आज नौसेना के बेड़े में शामिल हुआ INS वेला

इस पनडुब्बी के सेवा में शामिल होने से नौसेना की युद्धक क्षमता में बढ़ोतरी होगी। ‘प्रोजेक्ट 75’ में स्कॉर्पीन डिजाइन की छह पनडुब्बियों का निर्माण शामिल है। इनमें से तीन पनडुब्बियों – कलवरी, खंडेरी, करंज – को पहले ही सेवा में शामिल किया जा चुका है।

  • इस पनडुब्बी के सेवा में शामिल होने से नौसेना की युद्धक क्षमता में बढ़ोतरी होगी।
  • पनडुब्बी का निर्माण मुंबई स्थित मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड ने मेसर्स नेवल ग्रुप आफ फ्रांस के सहयोग से किया।

मुंबई: भारतीय नौसेना ने आज ‘प्रोजेक्ट 75’ के तहत वह अपनी चौथी स्टील्थ स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी आईएनएस वेला को आज सेवा में शामिल किया। नौसेना ने इससे पहले एक बयान में कहा था कि इस पनडुब्बी के सेवा में शामिल होने से उसकी युद्धक क्षमता में बढ़ोतरी होगी। ‘प्रोजेक्ट 75’ में स्कॉर्पीन डिजाइन की छह पनडुब्बियों का निर्माण शामिल है। इनमें से तीन पनडुब्बियों – कलवरी, खंडेरी, करंज – को पहले ही सेवा में शामिल किया जा चुका है।

नौसेना ने एक बयान में कहा था, ‘‘भारतीय नौसेना की चौथी स्टील्थ स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी, आईएनएस वेला, 25 नवंबर 2021 को सेवा में शामिल होने के लिए तैयार है।’’ पनडुब्बी का निर्माण मुंबई स्थित मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड ने मेसर्स नेवल ग्रुप आफ फ्रांस के सहयोग से किया है।

आईएनएस वेला का पिछला अवतार 31 अगस्त, 1973 को सेवा में शामिल किया गया था और यह 25 जून, 2010 को सेवा से हटी थी। इसने 37 वर्षों तक राष्ट्र की महत्वपूर्ण सेवा की थी।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment