मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम: एक विकेट नहीं ले पाई ‘विराट सेना

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत को ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) ने 10 विकेट से रौंद दिया, कंगारुओं ने 256 रनों के लक्ष्य को 37.4 ओवर में हासिल किया

मुंबई. जिस टीम में जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, कुलदीप यादव और रवींद्र जडेजा जैसे धुरंधर गेंदबाज हो और वो टीम विरोधी का एक भी विकेट नहीं गिरा पाए तो इससे बुरा क्या ही होगा. मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 10 विकेट से रौंद दिया. पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम महज 255 रनों पर सिमट गई और उसके बाद ऑस्ट्रेलियाई ओपनर डेविड वॉर्नर (David Warner) और कप्तान एरॉन फिंच (Aaron Finch) ने भारतीय गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाते हुए इस लक्ष्य को महज 37.4 ओवर में हासिल कर लिया. बता दें पिछले 15 सालों में ये टीम इंडिया की सबसे शर्मनाक हार है. साल 2005 में भारत ने आखिरी बार कोई वनडे मैच 10 विकेट से गंवाया था.

फिंच और वॉर्नर का धमाल
India vs Australia: टीम इंडिया की हार की सबसे बड़ी वजह बने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच और डेविड वॉर्नर. दोनों ही बल्लेबाजों ने शतक ठोके. फिंच ने नाबाद 110 और वॉर्नर ने नाबाद 128 रनों की पारी खेली. इन दोनों बल्लेबाजों के बीच 258 रनों की साझेदारी हुई, जो कि वानखेड़े स्टेडियम में किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है. साथ ही ये ऑस्ट्रेलियाई वनडे इतिहास की तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी भी है. डेविड वॉर्नर को उनकी शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच मिला.

भारतीय गेंदबाजों के उड़ाए होश
डेविड वॉर्नर और एरॉन फिंच (Aaron Finch) ने भारत की मजबूत माने जाने वाली गेंदबाजी को पूरी तरह से नेस्तेनाबूद कर दिया. दोनों ने 7.1 ओवर में 50 रन स्कोरबोर्ड पर लगाए और पहले 10 ओवर में ही 84 रन ठोक डाले. इसके बाद दोनों ने 71 गेंदों में शतकीय साझेदारी पूर की. वॉर्नर खास तौर पर काफी आक्रामक दिखे और उन्होंने 40 गेंदों में अर्धशतक पूरा किया. कप्तान फिंच ने 52 गेंदों में हाफसेंचुरी पूरी की. दोनों बल्लेबाज थमे नहीं और 30.2 ओवर में ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 200 पार कर दिया. इसके बाद वॉर्नर ने 88 गेंदों में अपना 18वें वनडे शतक पूरा किया और फिर कप्तान फिंच ने 108 गेंदों में 16वां वनडे सैकड़ा जमाया. आखिर में दोनों ने बेहद आसानी से टीम को सीरीज में 1-0 की बढ़त दिला दी.

भारत की खराब बल्लेबाजी
इससे पहले भारत ने शुरू में ही रोहित शर्मा (10) का विकेट गंवा दिया जिन्हें मिचेल स्टार्क (56 रन देकर तीन विकेट) की गेंद पर वॉर्नर ने मिड ॉफ पर कैच किया. राहुल इसके बाद धवन का साथ देने के लिये आये और इन दोनों ने अच्छी बल्लेबाजी की. धवन ने शुरू में सतर्कता बरतने के बाद अपने शॉट खेलने शुरू किये. उन्होंने 20वें ओवर में 66 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया. अर्धशतक पूरा करने के तुरंत बाद धवन को जीवनदान मिला जब एशटन एगर (56 रन पर एक) की गेंद पर वार्नर ने मिडविकेट पर उनका कैच छोड़ा.

राहुल (KL Rahul) जब अर्धशतक से तीन रन दूर थे तब उन्होंने एगर की गेंद पर कवर पर स्टीव स्मिथ को आसान कैच दिया. पैट कमिन्स (44 रन देकर दो) के अगले ओवर में एगर ने धवन का कैच लिया. राहुल ने अपनी 61 गेंद की पारी में चार चौके जबकि धवन ने नौ चौके और एक छक्का लगाया.

नंबर 4 पर फ्लॉप विराट
धवन और राहुल को टीम में शामिल करने के लिये कोहली (16) चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे लेकिन वह लंबी पारी नहीं खेल पाये और स्पिनर एडम जंपा (53 रन देकर एक) ने अपनी ही गेंद पर उनका कैच लेकर ऑस्ट्रेलिया को बड़ी सफलता दिलायी.

स्टार्क ने इसके बाद श्रेयस अय्यर को विकेटकीपर एलेक्स कैरी के हाथों कैच कराया. पंत (28) और जडेजा (25) ने छठे विकेट के लिये 49 रन जोड़े लेकिन ये दोनों लगातार ओवरों में पवेलियन लौट गये. शार्दुल ठाकुर (13), कुलदीप यादव (17) और मोहम्मद शमी (10) ने दोहरे अंक में पहुंचकर भारतीय स्कोर 250 रन के पार पहुंचाया. हालांकि ये स्कोर ऑस्ट्रेलिया के लिए बहुत ही छोटा पड़ गया. बता दें इन दोनों टीमों के बीच दूसरा एकदिवसीय मैच शुक्रवार को राजकोट में खेला जाएगा.

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Related posts

Leave a Comment