नई दिल्ली: ‘मैं कोई नवाज शरीफ से नहीं मिलने गया’…PM मोदी से अलग मुलाकात पर बोले उद्धव ठाकरे

प्रधानमंत्री मोदी से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अलग से भी मिले और दोनों ने करीब 10 मिनट तक बातचीत, जो चर्चा की विषय बन गई है.

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में महाराष्ट्र सरकार के प्रतिनिधिमंडल ने राज्य के मुद्दों को लेकर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. हालांकि इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अलग से भी मिले और दोनों ने करीब 10 मिनट तक बातचीत, जो चर्चा की विषय बन गई है. इसको लेकर कई तरह की राजनीतिक अटकलें लगाई जाने लगीं. हालांकि पीएम मोदी से मुलाकात को लेकर उद्धव ठाकरे से सवाल पूछा गया तो उन्होंने भी अपना पक्ष मीडिया के सामने रखा और इस दौरान एक दिलचस्प टिप्पणी कर डाली.

 

प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘हम राजनीतिक रूप से एक साथ नहीं हो सकते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हमारा रिश्ता टूट गया है.’ इसके साथ ही उद्धव ठाकरे ने तंज कसते हुए कहा, ‘मैं कोई नवाज शरीफ से नहीं मिलने गया था. इसलिए अगर मैं उनसे (पीएम मोदी) अलग से व्यक्तिगत रूप से मिलूं, तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है.’

इससे पहले महाराष्ट्र सरकार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण आज दोपहर को प्रधानमंत्री आवास पर पहुंचे और पीएम मोदी से मिले. इस दौरान मराठा आरक्षण, चक्रवात तौकते को लेकर चर्चा की गई. उन्होंने मराठा कोटे पर सुप्रीम कोर्ट की रोक हटाने के लिए केंद्र के दखल देने का अनुरोध किया तो साथ ही ओबीसी आरक्षण, जातिगत जनगणना और मराठी को क्लासिकल भाषा का दर्जा दिए जाने की भी मांग की. बैठक के बाद उद्धव ठाकरे ने मीडिया को बताया कि बैठक के दौरान कई मुद्दों पर बातचीत हुई है. इसमें आरक्षण का मुद्दा भी शामिल रहा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस दौरान हमने मराठी भाषा को अभिजात भाषा का दर्जा देने बात पीएम के सामने रखी है. मराठी भाषा को अभिजात भाषा का दर्जा मिलें इसके लिए हमने सभी कागजात केंद्र को पहलें ही दिए है. अभी उसमें जरूरती डॉक्यूमेंट की जरूरत हो तो वो भी हमें बताए जाएं. कोई फॉर्मलिटी बची हो तो हमें बताई जाए हम उसे पूरा करेंगे. लेकिन मराठी भाषा को जल्द से जल्द क्लासिक भाषा का दर्जा दिए जाने की सूचना देने की मांग हमने पीएम से की है. मराठी भाषा विषय पर प्रधानमंत्री ने कहा है कि वो इस बारे में पूरी जानकारी लेकर इसपर ध्यान देंगे. हमें पूरा विश्वास है, आशा है उमीद है कि पीएम जल्द सकरात्मक फैसला लेंगे.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने किसान के मुद्दे को भी प्रधानमंत्री के सामने रखा. जैसे फसल के लिए कर्ज मिलता है वैसे ही फसल के लिए बीमा मिल जाएं. इसके लिए हमने ‘बिड मॉडल’ का जिक्र किया. बैठक के बाद प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि हमने प्रधानमंत्री को ताउते तूफान से हुए नुकसान की भी जानकारी दी है. प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि हाल ही में ताउते तूफान मुंबई समेत राज्य के समुद्र तटीय क्षेत्रों को स्पर्श कर के गया भले ही तूफान ने सिर्फ स्पर्श किया लेकिन उसकी वजह से नुकसान बहुत हो जाता है. इसको लेकर भी हमने प्रधानमंत्री के सामने बात रखी है.

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

 

Related posts

Leave a Comment