नई दिल्ली: बजट एक फरवरी को मोदी ने जनता से सुझाव मांगे

नई दिल्ली. आम बजट एक फरवरी को पेश किया जाएगा। बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होकर दो चरणों में 3 अप्रैल तक चलेगा। पहला चरण 31 जनवरी से 11 फरवरी तक और दूसरा 2 मार्च से 3 अप्रैल तक होगा। न्यूज एजेंसी के मुताबिक संसदीय मामलों की कैबिनेट कमेटी ने इन तारीखों की सिफारिश की है। बजट सत्र के दो चरणों में आमतौर पर एक महीने का अंतराल होता है ताकि संसदीय समितियां विभिन्न मंत्रालयों के लिए बजट में आवंटित राशि पर विचार-विमर्श कर सकें। दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट को लेकर आम लोगों से सुझाव मांगे हैं। मोदी ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि केंद्रीय बजट देश के 130 करोड़ लोगों की उम्मीदों से जुड़ा हुआ है। बजट देश के विकास का रास्ता तय करता है। मैं आप सभी को विचार और सुझाव साझा करने के लिए आमंत्रित करता हूं।

वित्त मंत्री भी जनता से राय मांग चुकी हैं
मोदी ने कहा कि किसानों, शिक्षा और दूसरे क्षेत्रों के लिए अपने मूल्यवान विचार सरकार की वेबसाइट MyGov के जरिए साझा करें। मोदी से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी बजट पर आम लोगों से सुझाव मांग चुकी हैं। बजट एक फरवरी को पेश किया जाएगा।

मोदी ने इकोनॉमी पर उद्योगपतियों से भी चर्चा की

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने सालाना जीडीपी ग्रोथ का पहला अनुमान मंगलवार को जारी किया था। 2019-20 में सिर्फ 5% ग्रोथ की उम्मीद है। पिछले साल 6.8% थी। ऐसे में बजट में ग्रोथ बढ़ाने के उपाय करना सरकार का लक्ष्य होगा। मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था पर सोमवार को देश के 11 प्रमुख उद्योगपतियों से भी चर्चा की थी।

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Related posts

Leave a Comment