नई दिल्ली: सीरम इंस्टीट्यूट ने स्कॉट कैशा में 50 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 3,000 करोड़ रुपये खर्च किए

सीरम इंस्टीट्यूट ने स्कॉट कैशा में 50 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 3,000 करोड़ रुपये खर्च किए

नई दिल्ली: सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने पूर्व सह-मालिक कैरस दादाचांजी और शापूर मिस्त्री से भारतीय संयुक्त उद्यम स्कॉट कैशा में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 3,000 करोड़ रुपये का भुगतान किया है।

इससे पहले 17 अगस्त को सौदे की घोषणा की गई थी, राशि का खुलासा नहीं किया गया था।

स्कॉट कैशा भारतीय साझेदारों और जर्मनी की स्पेशियलिटी ग्लास कंपनी स्कॉट एजी के बीच एक संयुक्त उद्यम है। दवाओं को पैकेज करने के लिए उपयोग की जाने वाली शीशियों, सीरिंज और कारतूस जैसे फार्मा पैकेजिंग उत्पादों का एक प्रमुख भारतीय निर्माता है।

संयुक्त उद्यम में एक साथ काम करने से सीरम और स्कॉट की सफल साझेदारी में एक नया अध्याय खुला है। कंपनियों के बीच मजबूत व्यापारिक संबंध रहे हैं। दोनों महामारी के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

कंपनी भारत और दुनिया को करोड़ों खुराक दे चुकी है और डिलीवर कर चुकी है। पैकेजिंग के मामले में स्कॉट ने 2021 तक 2 बिलियन से अधिक वैक्सीन खुराक के लिए शीशियों को वितरित करने के अपने लक्ष्य को पहले ही पूरा कर लिया है। कंपनी प्रमुख वैक्सीन निर्माताओं को विश्व स्तर पर कांच की शीशियाँ प्रदान कर रही है।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा, सबसे अच्छी दवा भी सही पैकेजिंग के बिना रोगी तक नहीं पहुंच सकती है। इस आपूर्ति श्रृंखला को सुरक्षित करना रणनीतिक महत्व है। स्कॉट हमारे लिए उनकी विशेषज्ञता और वैश्विक के कारण ऐसा करने के लिए एकदम सही भागीदार है। एक लंबे समय के ग्राहक के रूप में हम कोविशील्ड सहित अपने टीकों को स्टोर करने के लिए उनकी शीशियों, एमपॉल और सीरिंज का उपयोग करते हैं। एक साथ मिलकर काम करना वैश्विक स्वास्थ्य के सर्वोत्तम हित में है।

स्कॉट के सीईओ फ्रैंक हेनरिक ने कहा, चूंकि भारत ने वैश्विक फार्मास्युटिकल हब के रूप में अपनी स्थिति को लगातार स्थापित किया है, हम भारतीय फार्मा आपूर्ति श्रृंखला के भीतर अपने पदचिह्न् को मजबूत करने के लिए खुश हैं। यह एक उत्कृष्ट है फार्मा निर्माण और पैकेजिंग उत्पादन के बीच अधिक तालमेल के साथ नए सहयोग मॉडल की ओर बढ़ने का उदाहरण है।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment