पीएम मोदी: यूपी समेत दिल्ली ​हरियाणा के करोड़ों लोगों को होगा फायदा

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एक बयान में बताया कि जेवर हवाईअड्डा उत्तर प्रदेश का प्रवेश द्वार साबित होगा.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास किया. इसके विकास में कुल 8914 करोड़ रुपये की लगात लगने का अनुमान  बताया जा रहा है. प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एक बयान में बताया कि जेवर हवाईअड्डा उत्तर प्रदेश का प्रवेश द्वार साबित होगा। हवाईअड्डे के विकास का ठेका ज्यूरिख एयरपोर्ट  इंटरनेशनल को दिया गया है. इसका परिचालन 2024 तक शुरू होने की उम्मीद है. हवाईअड्डे के विकास कार्य में कुल 29,560 करोड़ लागत आने का अनुमान है. यह एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा. जेवर में पीएम मोदी के साथ सीएम योगी और अन्य नेता मौजूद रहेंगे. इनमें केशव प्रसाद मौर्य, श्रीकांत शर्मा, चौ भूपेन्द्र सिंह, संजीव बालियान, एसपी सिंह बघेल, जनरल वीके सिंह, डॉ महेश शर्मा, सुरेन्द्र नागर, बीएल वर्मा, नंदगोपाल नंदी शामिल होंगे।

नए रोजगार के अवसर मिलेंगे: मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि हवाई अड्डे के निर्माण के दौरान कई लोगों को रोजगार प्राप्त होंगे. इसे सुचारू रूप से चलाने के लिए भी हजारों की जरूरत होती है. पश्चिमी यूपी के हजारों लोगों को नए रोजगार के अवसर मिलेंगे. राजधानी के पास होने के कारण पहले ऐसे क्षेत्रों को एयरपोर्ट से नहीं जोड़ा जाता था. ऐसा कहा जाता था कि दिल्ली में तो है ही, हमने इस सोच को बदला. आज देखिए हमने हिंडन एयरपोर्ट को यात्री सेवाओं के लिए चालू कर दिया. इसी प्रकार हरियाणा के हिसार में भी एयरपोर्ट पर तेजी से काम हो रहा है. जब एयर कनेक्टिविटी बढ़ती है तो टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलता है. माता वैष्णो देवी की यात्रा हो या केदारनाथ यात्रा, वहां श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ रही है. उन्होंने कहा कि आजादी के सात दशक बाद पहली बार उत्तर प्रदेश को वो सौगात मिलने वाली ​है, जिसका वो हमेशा से हकदार रहा है. डबलइंजन की सरकार के प्रयासों से आज यूपी देश के सबसे कनेक्टेड क्षेत्र में तब्दील हो रहा है. रैपिड रेल कॉरिडोर हो, एक्सप्रेस वे हो, मेट्रो कनेक्टिविटी पर काम तेजी से हो रहा है.

मोदी बोले- करोड़ों लोगों को मिलेगा लाभ

शिलान्यास के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को संबोधित ​किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज इस एयरपोर्ट के भूमिपूजन के साथ दाऊ जी मेले के लिए प्रसिद्ध जेवर भी अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर अंकित हो गया है. इसका बहुत बड़ा लाभ दिल्ली एनसीआर और पश्चिमी यूपी के करोड़ों लोगों
मिलने वाला है. उन्होंने कहा कि 21वीं सदी का नया भारत आज एक से बढ़कर एक बेहतरीन आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है. बेहतरीन सड़कें, रेल नेटवर्क, एयरपोर्ट, ये सिर्फ इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट ही नहीं होते, बल्कि ये पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देने वाले हैं, लोगों के जीवन में बदलाव लाएंगे. हर किसी को इसका लाभ मिलता है. इसकी ताकत और बढ़ जाती है जब उनके साथ सीमलेस कनेक्टिविटी हो, लास्ट माइल कनेक्टिविटी हो. ये एयरपोर्ट कनेक्टिविटी की नजर से भी बेहतरीन मॉडल होगा. यहां आने जाने के लिए टैक्सी से लेकर मेट्रो और रेल तक हर कनेक्टिविटी होगी. एयरपोर्ट से निकलते ही आप सीधे यमुना एक्सप्रेस वे पर आ सकते हैं.

 

जेवर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पश्चिमी उत्तर प्रदेश को बड़ी सौगात दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गौतमबुद्धनगर के जेवर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का नया भारत आज एक से बढ़कर एक बेहतरीन आधुनिक infrastructure का निर्माण कर रहा है। बेहतर सड़कें, बेहतर रेल नेटवर्क, बेहतर एयरपोर्ट ये सिर्फ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स ही नहीं होते बल्कि ये पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देते हैं, लोगों का जीवन पूरी तरह से बदल देते हैं। आइए आपको बताते हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बड़ी बातें।

  1. नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट उत्तरी भारत का logistic गेटवे बनेगा। ये इस पूरे क्षेत्र को नेशनल गतिशक्ति मास्टरप्लान का एक सशक्त प्रतिबिंब बनाएगा।
  2. हवाई अड्डे के निर्माण के दौरान रोज़गार के हजारों अवसर बनते हैं। हवाई अड्डे को सुचारु रूप से चलाने के लिए भी हज़ारों लोगों की आवश्यकता होती है। पश्चिमी यूपी के हजारों लोगों को ये एयरपोर्ट नए रोजगार भी देगा।
  3. आज़ादी के 7 दशक बाद, पहली बार उत्तर प्रदेश को वो मिलना शुरु हुआ है, जिसका वो हमेशा से हकदार रहा है। डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से, आज उत्तर प्रदेश देश के सबसे कनेक्टेड क्षेत्र में परिवर्तित हो रहा है।
  4. पहले की सरकारों ने जिस उत्तर प्रदेश को अभाव और अंधकार में बनाए रखा, पहले की सरकारों ने जिस उत्तर प्रदेश को हमेशा झूठे सपने दिखाए, वही उत्तर प्रदेश आज राष्ट्रीय ही नहीं, अंतर्राष्ट्रीय छाप छोड़ रहा है।
  5. यूपी में और केंद्र में पहले जो सरकारें रहीं, उन्होंने कैसे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास को नजरअंदाज किया, उसका एक उदाहरण ये जेवर एयरपोर्ट भी है। 2 दशक पहले यूपी की भाजपा सरकार ने इस प्रोजेक्ट का सपना देखा था। लेकिन बाद में ये एयरपोर्ट अनेक सालों तक दिल्ली और लखनऊ में पहले जो सरकारें रहीं, उनकी खींचतान में उलझा रहा। यूपी में पहले जो सरकार थी उसने तो बाकायदा चिट्ठी लिखकर, तब की केंद्र सरकार को कह दिया था कि इस एयरपोर्ट के प्रोजेक्ट को बंद कर दिया जाए। अब डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से आज हम उसी एयरपोर्ट के भूमिपूजन के साक्षी बन रहे हैं।
  6. इंफ्रास्ट्रक्चर हमारे लिए राजनीति का नहीं बल्कि राष्ट्रनीति का हिस्सा है। हम ये सुनिश्चित कर रहे हैं कि प्रोजेक्ट्स अटके नहीं, लटके नहीं, भटके नहीं। हम ये सुनिश्चित करने का प्रयास करते हैं कि तय समय के भीतर ही इंफ्रास्ट्रक्चर का काम पूरा किया जाए।
  7. हमारे देश में कुछ राजनीतिक दलों ने हमेशा अपने स्वार्थ को सर्वोपरि रखा है। इन लोगों की सोच रही है- अपना स्वार्थ, सिर्फ अपना खुद का, परिवार का विकास। जबकि हम राष्ट्र प्रथम की भावना पर चलते हैं। सबका साथ-सबका विकास, सबका विश्वास-सबका प्रयास, हमारा मंत्र है।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment