RIL Q4 Result: रिलायंस बनी 100 अरब डॉलर आय वाली पहली भारतीय कंपनी, तेल की कीमतों से जबर्दस्त बढ़ा मुनाफा

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को शेयर बाजार को भेजी सूचना में बताया कि तेल शोधन मार्जिन में मजबूती, दूरसंचार और डिजिटल सेवाओं में निरंतर वृद्धि तथा खुदरा कारोबार में मजबूत गति से कंपनी का लाभ बढ़ा है।

उद्योगपति मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) का एकीकृत शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही में 24.5 प्रतिशत बढ़कर 16,203 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को शेयर बाजार को भेजी सूचना में बताया कि तेल शोधन मार्जिन में मजबूती, दूरसंचार और डिजिटल सेवाओं में निरंतर वृद्धि तथा खुदरा कारोबार में मजबूत गति से कंपनी का लाभ बढ़ा है।

तेल से लेकर दूरसंचार क्षेत्र में कारोबार करने वाली कंपनी का वित्त वर्ष 2020-21 की जनवरी-मार्च तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 13,227 करोड़ रुपये था। पूरे वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज का शुद्ध लाभ बढ़कर 60,705 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। वहीं आय बढ़कर 7.92 लाख करोड़ रुपये (102 अरब डॉलर) हो गई। रिलायंस इंडस्ट्रीज सौ अरब डॉलर सालाना आय वाली पहली भारतीय कंपनी बन गयी है।

जियो को 4,173 करोड़ रुपये का प्रोफिट

देश की सबसे प्रतिष्ठित कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज की इकाई रिलायंस जियो ने शानदार नतीजे पेश किए हैं। कंपनी का शुद्ध लाभ मार्च 2022 को समाप्त चौथी तिमाही में करीब 24 प्रतिशत बढ़कर 4,173 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कंपनी ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि एक साल पहले इसी तिमाही में शुद्ध लाभ 3,360 करोड़ रुपये था। कंपनी ने शेयर बाजार को जानकारी देते हुए बताया कि वित्त वर्ष 2021-22 की जनवरी-मार्च तिमाही में कंपनी की एक एकल आधार पर परिचालन आय 20 प्रतिशत बढ़कर 20,901 करोड़ रुपये रही जो एक साल पहले इसी तिमाही में 17,358 करोड़ रुपये थी।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment