Tunisha Sharma Case: शीजान की मां ने किया दावा, 23 तारीख को इस शख्स को तुनिषा ने दिखाया फंदा बनाकर! वकीलों ने दिया ये बयान

Tunisha Sharma Case: तुनिषा आत्महत्या मामले में आज आरोपी शीजान की मां और दोनों बहने और वकीलों ने मीडिया के सामने बड़ा खुलासा किया है।

Tunisha Sharma Case: बॉलीवुड व टीवी एक्ट्रेस तुनिषा शर्मा की आत्महत्या के मुख्य आरोपी शीजान की मां और बहने आज मीडिया के सामने अपनी बात रखने आई हैं। PC में उनके साथ उनके वकील शैलेन्द्र मिश्रा और शरद राय भी हैं। यहां पर एक बड़ा खुलासा किया गया है। शीजान की मां का दावा है कि सेट पर तुनिषा की मौत के एक दिन पहले 23 तारीख को उसे फंदा बनाकर दिखाया गया था।

एक दिन पहले दिखाया था फंदा बनाकर 

तुनिषा की मां ने कहा हम यहां जो सच्चाई है उसे सामने रखने आये हैं, जिस तरह से मीडिया ट्रायल हुआ वह गलत था। साथ ही 24 को घटना हुई वह भी दुखद है। यहां तुनिषा की मां ने कहा कि 23 को पार्थ जुत्शी के रूम में गयी थी और तब तुनिषा ने उन्हें फांसी का फंदा बनाकर दिखाया था। जिसके बाद  पार्थ ने उन्हें डांटा था और शिजान ने भी समझाया था।

मां को बुलाकर बताया गया 

इस घटना के बाद तुनिषा की मां को सेट पर बुलाया गया था और उन्हें बताया गया था। साथ ही उन्हें बताया गया कि तुनिषा को अकेले मत छोड़ो। 15 मिनट की कोई मिस्ट्री नहीं है, शीजान को एफ एंड बी हॉस्पिटल से डिटेन कर लिया गया था। उसके फोन व्हाट्सएप से कुछ नहीं निकला।

 

कौन हैं संजीव कौशल 

संजीव कौशल तुनिषा को चंडीगढ़ लेकर जाना चाहते थे। अब सवाल यह है कि संजीव कौन थे और तुनिषा को क्यों कंट्रोल करते थे? आखिर संजीव और वनिता (तुनिषा की मां) का क्या रिश्ता है? इसके आगे वकील ने एक और खुलासा किया कि वनिता और संजीव को लेकर तुनिषा डिप्रेस होती थीं। वकील ने कहा कि इसे लेकर जब विवाद हुआ तो वनिता ने तुनिशा का गला दबाया था मारा था।

 

शीजान की मां ने यह भी दावा किया कि चंडीगढ़ में एक ऐसा हादसा हुआ कि तुनिषा को घर से निकला दिया था। उसके बाद वो मुंबई आई। पवन ने बस यूज मुंबई में तुनिषा को काम दिलाया था। बस यही उनका रोल है। इसके बाद शीजान की मां ने तुनिषा की मां को निशाने पर लिया और कहा कि आपने बोली कि तुनिषा दरगाह गई थी और फलक उसे लेकर गई। तो कब गए, कहां गए, कौन से दरगाह गए, उसका कोई सबूत है? आपने कहा शीजान ने उसे थप्पड़ मारा था, तो वो मेरे घर आकर क्यों नहीं बोली। वह मेरे घर आती थी, तो बोली क्यों नहीं। वो बच्ची मेरे बहुत करीब थी। वो 20 साल की थी। मेरे लिए वो 10 साल की थी। आप क्या चाहती हैं वनिता जी, एक बच्चे ने सुसाइड कर लिया और दूसरा बच्चा भी सुसाइड कर ले?

शीजान की मां ने कहा कि शीजान के बर्थडे पर हमने वनिता को इनवाइट किया था। दिवाली में भी वो मेरे घर आई थीं। 4 तारीख को भी तुनिषा का बर्थडे है। जिसे मैं प्लान कर रही थी। तुनिशा को परिवार चाहिए था।

शीजान की बहन ने कहा- वह मेरी बहन थी

शीजान की बहन फलक ने कहा, ‘मेरा बहन का रिश्ता था। भले खून का रिश्ता नहीं था। बड़ी बहन का रिश्ता था। हम उसे तकलीफ में नहीं देख सकते। हम अपना धर्म निभाने के लिए किसी को फोर्स नहीं करते। हिजाब की फोटो एक फोटो शूट के दौरान की है। उर्दू सीखने की बात है यह है कि जब कोई शूट करता है तो उस हिसाब से भाषा बोलता है।

इसके आगे फलक ने कहा कि झूठा बोला जा रहा है कि तुनिषा को कुत्ता पसंद नहीं है। टैटू कोई किसी को जबरन नहीं बनवा सकता। उनकी मां को कहना चाहिए कि तुनिषा की मेंटल हेल्थ ठीक नहीं थी मैंने ध्यान नहीं दिया, ये बोलने के बजाय वह काला जादू और बाकी सारे बात बोलती थीं। तुनिषा को घूमना था। वो काम नहीं करना चाहती थी। पहली बार हमने उसे बीच दिखाया था।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment