अरंडी के तेल का उपयोग कहाँ कहाँ होता है ?

अरंडी का तेल

जमाना कितना ही बदल जाए पर एक महिला और पुरुष दोनों के लिए स्वस्थ, घने, और सुंदर बालो की कीमत कभी कम नही होती। महिलायों के लिए तो खासकर सुंदर बालो को उनका श्रृंगार और गहना माना गया है। क्या क्या जतन नही कर डालती महिलाएं अपने बालों की देखभाल के लिए, चाहे वो महंगे हेयर ट्रीटमेंट हो या समय और ऊर्जा की खपत वाले घरेलू नुस्खे।

लेकिन क्या आप जानते है इन सब महंगी और समय खाने वाली चीज़ों के बीच मे साधारण सा दिखने वाला अरंडी अर्थात कैस्टर आयल कितने काम की चीज़ है।

अरंडी का तेल क्या है?

यह एक प्राकृतिक तेल है जो अरंडी के बीजों से मिलता है, यह हल्का पीला और हल्के तेलों के मुकाबले थोड़ा चिपचिपा होता है। इसमे रिसिनोलिक एसिड, ओमेगा 6, ओमेगा 9 तथा विटामिन ई के गुण होते है जो बालों के लिए बहुत ही लाभदायक होते है।

अरंडी तेल के गुण

  • बालो की ग्रोथ बढ़ाए
    आजकल के पॉल्युशन और कॉस्मेटिक के कारण बालो की ग्रोथ एक जगह आकर रुक जाती है। इस ग्रोथ को बढ़ाने में अरंडी का तेल काफी हद तक लाभदायक है। यहाँ तक भी मानते हैं कि इससे आई ब्रो तथा पलको के बालों को भी घना किया जा सकता है।
  • बाल झड़ने से रोके
    समयाभाव के कारण कोई भी चाहे वो गृहणी हो, कॉलेज स्टूडेंट हो या वर्किंग, अपने बालो की देखभाल नही कर पाती। इसका नतीजा होता है बालों का झड़ना, उपाय ना करने पर ये समस्या दिन ब दिन गम्भीर होती जाती है। कई बार बाल झड़ने की समस्या किसी इन्फेक्शन के कारण भी हो सकती है। ऐसे में अरंडी के तेल में शामिल रिसिनोलिक एसिड बहुत बढ़िया असर दिखाता है।
  • रूसी के लिए रामबाण
    सिर व बालो में होने वाला ये एक तरह का इन्फेक्शन ही है, इससे सिर में केवल खुजली ही नही होती बल्कि कई बार जलन भी होने लगती है। सिर में रूसी या डेंड्रफ होने पर इंसान की सेल्फ इमेज बहुत डाउन हो जाती है, वो सामाजिक होने से बचने लगता है क्योंकि हर समय सिर खुजाना और कपड़ो पर रूसी का दिखना शर्मनाक लगता है। ऐसे में एक अरंडी के तेल का उपयोग जरूर करे।
  • दोमुंहे बालो से मुक्ति
    तरह तरह की हेयर स्टाइलिंग, पॉल्युशन, पोषण की कमी, केअर ना करना इन सब कारणों से बाल दोमुंहे हो जाते है। दोमुहें बाल, बालों की ग्रोथ रोक लेते है, देखने मे भी अच्छे नही लगते। इसलिए अगर थोड़ी देखभाल के साथ अरंडी के तेल का उपयोग किया जाए तो दोमुहें बालो से मुक्ति मिल सकती है।
  • बालो को घना करें
    कुछ महिलाएं केवल इसलिए बाल कटवाकर छोटे रखती हैं क्योंकि उनके बाल लंबे तो होते है पर घने नही होते। लम्बे और पतले बाल देखने मे अच्छे नही लगते, ना ही कोई हेयर स्टाइल उनपर अच्छा लगता है। इस समस्या से निजात दिलवाने में भी अरंडी का तेल फायदेमंद है।
  • बालो को काला करे
    वो जमाना गया जब बड़े बुजुर्ग कहते थे कि ये बाल हमने धूंप में सफेद नही किये।
    आजकल खानपान में मिलावट, पॉल्युशन, स्ट्रेस, दवाओं के साइड इफ़ेक्ट के कारण युवा पीढ़ी के बाल भी असमय सफेद होने लगे है। बालो को काला करने के लिए हानिकारक डाई से लेकर महंगे ट्रीटमेंट इस्तेमाल किए जा रहे है। अरंडी का तेल एक ऐसा तेल है जो बालों को नमी दे प्राकृतिक रूप से काला करता है।
  • बालो में चमक लाए
    आजकल के पॉल्यूटेड वातावरण, धूल मिट्टी और बालों के प्रति लापरवाही बरतने के कारण उनकी प्राकृतिक चमक खो जाती है। बाल रूखे और बेजान लगते है, बाल लंबे और घने हो लेकिन अगर रूखे और बेजान हो तो सुंदर नहीं लगते। अरंडी का तेल बालों पर एक सुरक्षा परत चढ़ा देता है, जिससे बालो की चमक बरकरार रहती है।
  • कंडीशनिंग और सुरक्षा करता है
    शैम्पू के बाद बालों को कंडीशनिंग करना उन्हें मुलायम और चमकदार जरूर रखता है लेकिन लम्बे समय तक केमिकल का प्रयोग बालो की प्राकृतिक नमी और चमक को नुकसान पहुँचाते है। ऐसे में अरंडी का तेल केवल कंडिशनिंग ही नही करता बल्कि सूरज की खतरनाक किरणों तथा शैम्पू व कंडीशनर के बुरे प्रभाव से भी बचाता है।
  • संक्रमण से बचाता है
    अरंडी का तेल स्कैल्प को संक्रमण जैसे जलन और खुजली से मुक्त करता है क्योंकि इसमें एन्टीफंगल, एंटीवायरल और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती है।

ड्राई स्किन के लिए अरंडी के तेल के फायदे

यदि आप की स्किन ड्राई है या आप के स्किन पर मुहासे है तो आप के लिए अरंडी का तेल एक रामबाण की तरह कार्य करेगा। सुखी त्वचा पर अरंडी के तेल से मालिश करे या चेहरे पर १-२ घंटे तक तेल को लगाकर रहने दे बाद में उसे पानी से धो ले । ऐसा लगातार आप को १-२ महीने तक करना पड़ेगा। यदि आप निरंतर इस कार्य को करते है तो आप की सुखी त्वचा में निखार आएगा और मुहासे भी कम हो जायेंगे।

अरंडी का तेल रोके त्वचा को बूढ़ा होने से

अरंडी का तेल त्वचा के लिए बहुत अच्छा उपाए है| यह त्वचा को बूढ़ा होने से रोक सकता है। जब भी आप अरंडी के तेल को त्वचा पर लगाएगे तो यह त्वचा द्वारा सोख लिया जाता है, और त्वचा के अंदर जाकर कोलेजन और एलिस्टर के उत्पादन को बढ़ाता है। यह हमारी त्वचा को नरम करने में मदद करता है, इससे हमारी त्वचा पर झुर्रिया भी नहीं आती है। जिसके कारन हमारी त्वचा जवा दिखती है।

अरंडी तेल के लाभ मुंहासे कम करने के लिए

जिनकी मुंहासे वाली त्वचा होती है, वो लोग तेल से दूर भागते है| क्योकि उनके ऊपर तेल लगाने से तकलीफ और बढ़ती है परन्तु अरंडी का तेल मुंहासे कम करने के लिए फायदेमंद होता है। सबसे पहले आप गरम पानी से मुँह धो ले उसके बाद अरंडी के तेल को मुंहासे के ऊपर रात भर लगाए रखे, और अगले दिन सुबह उठकर ठंडे पानी से अपना चेहरा धो ले।

अरंडी तेल का लाभ स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए

खिंचाव के निशान जिसे हम स्ट्रेच मार्क्स कहते है, वैसे यह निशान ज्यादातर गर्भवस्था के बाद देखने को मिलते है। जब त्वचा खिंचाव महसूस करती है तभी यह निशान आते है। अरंडी के तेल में फैक्ट्री एसिड होता है। गर्भवस्था के अंतिम दो महीने में अरंडी के तेल से रोज 15-20 मिनट तक मालिश करे। इससे खिंचाव के निशान नहीं आते है। परिणाम अच्छा पाने के लिए रोज मालिश करे।

अरंडी का तेल बालों को बनाता है खूबसूरत

यदि आपके बाल रूखे है,और आप बहुत सारे उपाए कर-कर के थक गए है, तो एक बार अरंडी का तेल लगाकर जरूर देखे। अगर आप सुबह जल्दी नहाते है, तो इसको रात में लगा ले और सुबह उठ कर बाल धो ले इससे आपके बालों में मजबूती भी बनी रहेगी और बाल भी खूबसूरत दिखेंगे।

अरंडी के तेल के फायदे कमर दर्द को दूर करने के लिए

यदि आपके कमर में दर्द है, तो अरंडी का तेल सबसे अच्छा घरेलु उपाए है, बहुत बार गलत तरीके से सोने के कारण या फिर अचानक गर्दन में मोच आने की तकलीफ आ जाती है। अगर उस जगह हम अरंडी के तेल से हलके हाथ से मालिश करे तो धीरे-धीरे दर्द कम होने लगता है। कभी कभी अरंडी के तेल को चोट के ऊपर भी लगाया जाता है।

अरंडी का तेल कैसे उपयोग में लाए?

  • अरंडी के तेल लेकर उंगलियों के पोरों में लगा कर बालो की जड़ो से लेकर सिरों तक लगाए।
  • हल्के हाथ से कम से कम 15 मिनट मालिश करे।
  • तेल अगर रात को लगाकर सोएंगे तो ये और भी बेहतर असर दिखायेगा।
  • सुबह माइल्ड शैम्पू से बाल धो ले।
  • हल्के गीले बालों में ही कंघी करे, ज्यादा सूखे बालो में कंघी करने पर बाल ज्यादा टूटते है।
  • सुखाने के ड्राईर का इस्तेमाल ज्यादा ना करें।
  • बालो को धोने के बाद तौलिए से ज्यादा जोर से रगड़ना या झाड़ना नही चाहिए।
  • बड़े दाँतो वाली कंघी का प्रयोग करे, उससे बाल कम टूटते है।

स्रोत-

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Related posts

Leave a Comment