आहार स्वस्थ शरीर के लिए क्यों है इतना जरुरी ?

हम सभी मनुष्य के जीवन जीने के लिए भोजन बेहद आवश्यक होता है इसके माध्यम से ही हमारे अपने इस शरीर रूपी वाहन को ईंधन मिलता है। जिसके जरिए हम कोई भी कार्य करते हैं। आज दुनियाभर में कई ऐसे देश हैं जहां कुपोषण का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। इसके पीछे दो मुख्य कारण है एक तो है भोजन का अभाव तो वहीं दूसरा है ग्रहण किए गए भोजन में आवश्‍यक पोषक तत्‍वों का अभाव। इसकी वजह से भोजन ही हमारे शरीर का सबसे बड़ा शत्रु बन जाता है। इसलिए स्वस्थ आहार हम सभी के लिए जरूरी है।

आज के समय में अगर किसी व्‍यक्ति को स्वस्थ व सुखद जीवन जीना है तो उसके लिए स्वस्थ आहार लेना अत्‍यंत आवश्‍यक है। लेकिन ऐसा हम कभी सोच नहीं पाते क्योंकि हममें से अधिक लोग पेट भरने के लिए खाना खाते हैं या फिर मन की तृप्ति के लिए ? हर किसी का अपना अपना तर्क होता है लेकिन यह भी सच है कि आजकल के खाने का जो स्टाइल है उस तरह का खाना अगर हम खाते रहें तो हमारी मानसिकता, सेहत जल्दी बिगड़ेंगे और जल्द ही हमारे आयु कम होती जाएंगे।

यह कहना गलत नहीं होगा कि स्वास्थ्यवर्धक आहार के फायदे आपके स्वस्थ जीवन के आधार होते हैं आपके द्वारा लिए जाने वाले आहार ही आपके स्वास्थ्य का निर्धारण करते हैं आप जिस तरह के खानपान रखेंगे आपका स्वस्थ भी उसी प्रकार का होगा। एक स्वस्थ आहार का पालन करना मुश्किल लग सकता है लेकिन यह एक स्वस्थ जीवन बिताने के लिए महत्वपूर्ण है।

स्वस्थ आहार क्या है ?

स्वस्थ आहार का मतलब ऐसे खाद्य पदार्थ है जो पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं स्वास्थवर्धक आहार में उच्च गुणवत्ता बाली प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, हृदय-स्वस्थ बसा, विटामिन, खनिज और पानी शामिल होते हैं। ये वो आहार हैं जो आपको सेहतमंद, तंदुरुस्ती रखने के काम करते हैं और बीमारी से दूर रखें। हममें से कई लोग सोचते हैं कि हम सभी चीजें पर्याप्त मात्रा में लेते हैं फिर भी वो स्वस्थ्य क्यों नहीं रह पाते तो इसका एक कारण यह भी है कि आजकल के फल, सब्जी ज्यादातर ऑर्गेनिक नहीं होते हैं, उसमें रासायनिक खाद, कीटनाशक दवाइयों का प्रयोग किया जाता है। जो आहार में जहर का काम करती है इसीलिए फल और सब्जियों को अच्छी तरह से धोकर और छीलकर ही खाना या पकाना चाहिए।

सही मात्रा का कैसे करें निर्धारण

ऐसे में अब एक सवाल और आता है कि आखिर हमें कैसे पता चलेंगा कि कौन सा पदार्थ कितने मात्रा में हमारे शरीर को चाहिए होगा ? तो इसका सही जवाब आपको आहार व पोषण विशेषज्ञ ही दे सकता है वो आपके शरीर के अनुकूल आपकी डाइट का निर्धारण करता है। विभिन्न व्यक्तियों को अलग-अलग प्रकार के भोज्य पदार्थों की आवश्यकता भिन्न-भिन्न होती है। यह भिन्नता आयु, लिंग, शरीर का आकार, जलवायु, कार्य आदि की भिन्नता के कारण होती है। ऐसे में हम खुद से अपना आहार निर्धारित नहीं कर सकते हैं इसके लिए हमें विशेषज्ञ से ही परामर्श लेना होगा।

संतुलित आहार से ही शरीर का सही पोषण होता है और स्वास्थ्य तथा आयु की वृद्धि होती है। संतुलित आहार में प्रोटीन, कार्बोज, वसा, खनिज लवण, रेशा, जल तथा सभी प्रकार के विटामिन उचित मात्रा में होते हैं जिससे शरीर की सभी आवश्यकतायें पूरी हो जाती हैं। यदि उनमें से किसी की भी कमी या बहुलता हो जाएगी तो वह शरीर के लिए नुकसानदायक साबित होगी।

 

Spark.live नेटवर्क के जरिए आप चाहे तो एक बेहतरीन आहार व नैदानिक विशेषज्ञ नेहा वर्मा से संपर्क कर सकते हैं। आहार व नैदानिक विशेषज्ञ नेहा वर्मा का काम संतुलित आहार के साथ साथ पोषण संबंधी तमाम परामर्श भी देती हैं। नेहा वर्मा वजन घटाने के साथ ही साथ मधुमेह, उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर और खाद्य एलर्जी जैसी चिकित्सा स्थितियों के लिए भी परामर्श देती हैं। इसके अलावा खाने से एलर्जी, अनियमित मल त्याग, लैक्टोज असहिष्णुता, वजन घटना, पेट में जलन, भूख में वृद्धि या कमी, वजन बढ़ना, मधुमेह, थायराइड, पीसीओएस / पीसीओडी जैसी स्वास्थ्य स्थितियों को समझना है।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Related posts

Leave a Comment