महाबलीपुरमः शी जिनपिंग के दौरे का दूसरा दिन

भारत के विदेश सचिव ने बताया कि पीएम मोदी और शी जिनपिंग ने स्वीकार किया कि आतंकवाद एवं कट्टरपंथ साझी चुनौतियां हैं और दोनों नेता इससे निपटने के लिए मिलकर काम करेंगे.

महाबलीपुरमः भारत दौरे पर आए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का आज दूसरा दिना है. दूसरे दिन शी जिनपिंग की अनौपचारिक मुलाकात पीएम मोदी के साथ होगी. आज सुबह करीब 10 बजे दोनों नेता ताज फिशरमैन के कोव रिसॉर्ट में बैठक करेंगे. करीब 40 मिनटों तक चलने वाली इस बैठक में कई मुद्दों पर बातचीत होगी. हालांकि, बातचीत का एजेंडा क्या होगा यह साफ नहीं हो पाया है.

इस बैठक के बाद दोनों देशों के प्रतिनिधि स्तर की वार्ता होगी. दो दिनों की अनौपचारिक वार्ता के बाद दोनों देश आज संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में समझौते आदि को लेकर किसी तरह का कोई भी बयान नहीं जारी किया जाएगा. इससे पहले दोनों देशों के बीच पहली अनौपचारिक वार्ता अप्रैल 2018 में चीन के वुहान शहर में हुई थी.

आज का शेड्यूल

सुबह 9 बजे होटल से चीनी राष्ट्रपति महाबलीपुरम के लिए एक बार फिर रवाना होंगे.

करीब 50 मिनट का सफर तय कर जिनपिंग सुबह 9.50 बजे होटल फिशरमैंस को पहुंचेंगे.

यहां पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच बातचीत होगी.

सुबह 10 बजे दोनों नेता होटल के रेस्त्रां मचान में आपसी गुफ्तगू का दौर चलेगा.

सुबह 10.45 बजे प्रधानमंत्री मोदी के ही होटल में दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत भी होगी.

सुबह 11.45 बजे पीएम मोदी मेहमान चीनी राष्ट्रपति के लिए दोपहर भोज की मेजबानी भी करेंगे.

बातचीत और दोपहर भोज का दौर खत्म कर चीनी राष्ट्रपति दोपहर 12.45 बजे चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए रवाना होंगे.

दोपहर 1.30 बजे विमान में सवार हो जाएंगे.

पहले दिन की वार्ता खत्म होने के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने देर शाम संवाददाता सम्मेलन में बताया कि दोनों नेताओं ने रात्रिभोज के दौरान ढाई घंटे बातचीत की और इस दौरान उन्होंने अपनी-अपनी राष्ट्रीय दूरदृष्टि एवं शासन संबंधी प्राथमिकताओं समेत कई मामलों पर बातचीत की.

विदेश सचिव ने बताया कि पीएम मोदी और शी जिनपिंग ने स्वीकार किया कि आतंकवाद एवं कट्टरपंथ साझी चुनौतियां हैं और दोनों नेता इससे निपटने के लिए मिलकर काम करेंगे.

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Related posts

Leave a Comment