अमिताभ बच्चन ने नाती अगस्त्य के साथ उठाए डंबल

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने अपने नाती अगस्त्य नंदा (श्वेता नंदा का बेटा) के साथ एक तस्वीर शेयर की है. इस तस्वीर में अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) अगस्त्य के साथ डंबल उठाए नजर आ रहे हैं

नई दिल्ली: बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर अपने परिवार के साथ काफी तस्वीरें शेयर कर रहे हैं. लॉकडाउन के दिनों में अमिताभ अपनी फिटनेस का भी पूरा ख्याल रख रहे हैं. हाल ही में अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने अपने नाती अगस्त्य नंदा (श्वेता नंदा का बेटा) के साथ एक तस्वीर शेयर की है. इस तस्वीर में अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) अगस्त्य के साथ डंबल उठाए नजर आ रहे हैं.

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, ‘Fight .. fight the fit .. fit the fight .. reflective mirrors , laterally inverted imagery .. and the inspiration with Grandson.’

बॉलीवुड सितारे भी अमिताभ की इस तस्वीर पर खूब कमेंट कर रहे हैं. वहीं हाल ही में अमिताभ बच्चन दिवंगत फिल्मकार सुल्तान अहमद (Sultan Ahmed) को याद करते हुए भावुक हो गए. सत्तर और अस्सी के दशक में बॉलीवुड के सबसे सफल फिल्मकारों में से एक सुल्तान अहमद (Sultan Ahmed) अपनी डकैतों पर आधारित फिल्मों के लिए जाने जाते थे और बिग बी ने निर्देशक की 1978 की हिट फिल्म ‘गंगा की सौगंध’ में अभिनय किया था. फिल्मकार की 18 वर्ष पहले मृत्यु हो चुकी है, हालांकि अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) को उनके साथ काम करने के पल याद आ गए.

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने लिखा, ‘एक ²श्य था जो ऋषिकेश में फिल्माया गया था, जहां मेरे निर्देशक सुल्तान साहब ने मुझे लक्ष्मण झूला पुल पर घोड़े की सवारी करने के लिए कहा था. वह पुल खतरों से भरा था, क्योंकि जब हम उस पर चलते थे तो पुल हिलता था और मुझे उस पर घुड़सवारी करनी थी, ऐसे में मैं थोड़ा डरा और घबराया हुआ था. फिर मैंने सुल्तान साहब से इस बारे में बात की कि मैं ऐसा नहीं कर पाऊंगा क्योंकि मैं अपनी जिंदगी से प्यार करता हूं, लेकिन उन्होंने मुझे यह कहकर प्रोत्साहित किया कि आप ऐसा कर सकते हैं क्योंकि आप एक हीरो हैं, और हीरो डरते नहीं, लेकिन मैं तैयार नहीं था.’

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने आगे लिखा, ‘वह शॉट लेने को लेकर काफी जुनूनी थे, इसलिए उन्होंने सेना के कुछ लोगों को आर्मी बूट कैंप से घोड़ों के साथ बुलाया. उन्होंने उस ²श्य में हमारी मदद की और फिर बाद में सुल्तान साहब ने फिर से प्रोत्साहित किया और प्रेरित किया मुझे सीन करना है. और मैंने एक कदम आगे बढ़ाया और उसे किया.’

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने आगे कहा, ‘आखिरकार मैंने उस पुल पर घोड़े की सवारी की और शॉट दिया.. शॉट देने से पहले मैं सिर्फ गंगा नदी को देख रहा था और जय गंगा मईया की जय का जाप कर रहा था और वह सीन बहुत अच्छी तरह से हुआ जैसा वह चाहते थे. सुल्तान अहमद साहब एक बेहतरीन और बहुत जुनूनी निर्देशक थे.’

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

Idea TV News:- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें  पर लाइक और  पर फॉलो करें

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Related posts

Leave a Comment