मुंबई: शेयर बाजार में Paytm का शेयर लिस्ट होते ही निवेशकों को हुआ नुकसान, इतना गिर गया भाव

देश की सबसे बड़ी डिजिटल पेमेंट्स कंपनी पेटीएम (Paytm) की पैरंट कंपनी वन 97 कम्युनिकेशन लिमिटेड (One 97 Communications Ltd) का आईपीओ 8 नवंबर को सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था.

मुंबई: Paytm Stock Price: पेटीएम के शेयर आज यानी 18 नवंबर 2021 को BSE और NSE पर कमजोरी के साथ लिस्ट हुए. One97 Communications Ltd के आईपीओ के तहत इसके शेयरों की लिस्टिंग काफी निराशाजनक रही है. BSE पर पेटीएम का शेयर 1955 रुपये और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर 1,950 रुपये पर सूचीबद्ध हुआ है. Paytm के शेयरों की लिस्टिंग BSE पर 9.07 फीसदी और NSE पर 9.30 फीसदी नीचे हुई है. बाजार के जानकारों ने पहले ही कमजोर लिस्टिंग का अनुमान लगाया था. बता दें कि देश की सबसे बड़ी डिजिटल पेमेंट्स कंपनी पेटीएम (Paytm) की पैरंट कंपनी वन 97 कम्युनिकेशन लिमिटेड (One 97 Communications Ltd) का आईपीओ 8 नवंबर को सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था और 10 नवंबर को बंद हो गया था. कंपनी इस आईपीओ के जरिए 18,300 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है. पेटीएम के इश्यू का प्राइस बैंड 2,080-2,150 रुपये है. बता दें कि यह IPO सिर्फ 1.89 गुना ही सब्सक्राइब हो पाया था जो कि अनुमान से काफी कम था.

IPO से जुटाई गई राशि का इस्तेमाल इसके लिए होगा
बता दें कि कुल इश्यू का 45 फीसदी फंड कंपनी ने एंकर इनवेस्टर्स से जुटा लिया है. पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा, जापान का सॉफ्टबैंक, चीन के एंट ग्रुप, अलीबाबा और Elevation Capital कंपनी में अपनी हिस्सेदारी कम करेंगे. विजय शेखर शर्मा इसके जरिए आने वाली राशि का इस्तेमाल QBE Raheja के साथ फाइनेंशियल डील को पूरा करने में करेंगे.

Paytm के इश्यू का 75 फीसदी हिस्सा क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए रिजर्व है. हाई नेटवर्थ इनवेस्टर्स (HNI या NII) के लिए 15 फीसदी और बाकी का 10 फीसदी हिस्सा रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व है. Paytm की योजना फ्रेश इश्यू से जुटाए गए फंड का इस्तेमाल नए मर्चेंट्स और ग्राहकों को जोड़ने में करने की है. निवेशकों के साथ वैल्यूएशन पर मतभेद के कारण Paytm ने Pre-IPO फंड नहीं जुटाया है. कंपनी के प्रमुख इनवेस्टर्स में अलीबाबा और इसकी सहयोगी एंट ग्रुप के पास 38 प्रतिशत, एलिवेशन कैपिटल के पास 17.65 प्रतिशत और जापान के सॉफ्टबैंक की 18.73 प्रतिशत हिस्सेदारी है. विजय शर्मा के पास लगभग प्रतिशत होल्डिंग है और वह पेटीएम की लिस्टिंग के बाद इसके प्रमोटर नहीं रहेंगे. आज से 5 साल पहले 8 नवंबर, 2016 को देश में नोटबंदी की घोषणा हुई थी और उसका सबसे ज्यादा पेटीएम को ही हुआ था. मौजूदा समय में पेटीएम के देश में 33 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं.

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment