नई दिल्ली: सागर धनखड़ मर्डर केस: सुशील कुमार को जेल का खाना नहीं आ रहा रास-स्पेशल फूड के लिए अर्जी लगाई

सागर धनखड़ मर्डर केस: आरोप है कि वह अपने रसूख का इस्तेमाल करके जेल में आम व अन्य फल खा रहे हैं. साथ ही साथ उनके वकील ने दिल्ली की अदालत में अर्जी भी लगा दी है कि सुशील को जेल में स्पेशल फूड और सप्लीमेंट्स प्रोवाइड करवाए जाएं.

नई दिल्ली: पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड (Wrestler Sagar Murder Case) में मंडोली जेल में बंद आरोपी पहलवान सुशील कुमार (Wrestler Sushil Kumar) को जेल का खाना रास नहीं आ रहा है. उन्हें खाने में स्पेशल फूड सप्लीमेंट्स और आम भी चाहिए. आरोप है कि वह अपने रसूख का इस्तेमाल करके जेल में आम व अन्य फल खा रहे हैं. साथ ही साथ उनके वकील ने दिल्ली की अदालत में अर्जी भी लगा दी है कि सुशील को जेल में स्पेशल फूड और सप्लीमेंट्स प्रोवाइड करवाए जाएं. दलील दी है कि सुशील कुमार ने देश का नाम बड़ा किया है बड़े अवॉर्ड जीते हैं ओलंपिक मेडल जीते हैं, अभी वह आरोपी है और उनके कैरियर का अंत नहीं हुआ है. उन्हें जेल में एक्सरसाइज करने के साथ-साथ स्पेशल फूड और सप्लीमेंट्स दिए जाने की अनुमति दी जाए.

इस अर्जी पर अदालत ने जेल प्रशासन से जवाब मांगा है जो 8 जून तक दाखिल करना है. दूसरी ओर जेल प्रशासन का कहना है कि सुशील के साथ सामान्य कैदियों जैसा ही व्यवहार किया जा रहा है उन्हें वीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने का आरोप गलत है, यदि डॉक्टर प्रिसक्राइब करें और अदालत निर्देश दें तभी उन्हें फल व अन्य स्पेशल डाइट दी जा सकती है. क्योंकि उनकी सुरक्षा को लेकर थ्रेट है इसलिए अलग सेल में रखकर सीसीटीवी से हर पल निगरानी रखी जा रही है.
महिला मित्र पर भी कसा शिकंजा
पहलवान सागर धनखड़ के मर्डर केस (Wrestler Sagar Murder Case) में अब एक महिला का नाम भी सामने आ रहा है. ये महिला आरोपी पहलवान सुशील कुमार (Wrestler Sushil Kumar) की मित्र बताई जा रही है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने जब सुशील (Sushil Kumar) और अजय (Ajay) को गिरफ्तार किया था तब वो एक स्कूटी से मुंडका इलाके में घूम रहे थे. पुलिस के अनुसार ये स्कूटी एक महिला की है. और वो राष्ट्रीय स्तर की हैंडबाल खिलाड़ी (National Handball Player) है. अब पुलिस महिला खिलाड़ी को भी सुशील की मदद करने के आरोप में नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुला सकती है.
https://twitter.com/ArvindKejriwal/status/1401411074339999751

Related posts

Leave a Comment