चीन के राष्ट्रपति: शी जिनपिंग सेरिब्रल एन्यूरिज्म से पीड़ित, रिपोर्ट में दावा

क्या चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग सेरिब्रल एन्यूरिज्म नाम की बीमारी का सामना कर रहे हैं। रिपोर्ट में इस रोग का दावा किया गया है, हालांकि आधिकारिक तौर जानकारी नहीं है।

मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ‘सेरेब्रल एन्यूरिज्म’ से पीड़ित हैं और उन्हें 2021 के अंत में अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था।यह पता चला है कि उन्होंने सर्जरी के लिए जाने के बजाय पारंपरिक चीनी दवाओं के साथ इलाज करना पसंद किया। जो रक्त वाहिकाओं को नरम करता है और धमनी को सिकोड़ता है। इसकी वजह से धमनी फट जाती है जिसकी वजह से ब्रेन हैमरेज हो जाता है। बता दें कि जिनपिंग की इस बीमारी के बारे में औपचारिक जानकारी नहीं है।

पहले भी स्वास्थ्य को लेकर लगी है अटकलें
शी जिनपिंग के स्वास्थ्य के बारे में अटकलें लगाई जाती रही हैं। बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक तक COVID-19 के प्रकोप के बाद से विदेशी नेताओं से मिलने से परहेज किया था। इससे पहले मार्च 2019 में शी की इटली यात्रा के दौरान उनके चलने के तरीके में बदलाव था वो लंगड़ाते हुए नजर आए थे। और बाद में उसी दौरे के दौरान फ्रांस में भी उन्हें बैठने की कोशिश के दौरान भी वैसे ही देखा गया। इसी तरह अक्टूबर 2020 में शेनझेन में जनता के लिए एक संबोधन के दौरान उनकी मौजूदगी में देरी धीमी गति से भाषण और खांसी  ने फिर से उनके बीमार स्वास्थ्य के बारे में अटकलें लगाईं।

ये रिपोर्ट तब आई है जब चीन की अर्थव्यवस्था तेल और गैस की कीमतों में बढ़ोतरी और यूक्रेन संघर्ष के कारण आपूर्ति श्रृंखला में व्यवधान और शून्य-सीओवीआईडी ​​नीति के सख्त कार्यान्वयन के कारण बहुत तनाव में है।चीनी राष्ट्रपति के ऐतिहासिक तीसरे कार्यकाल के साथ, देश ने एक सामरिक कदम में, सामान्य समृद्धि पर ध्यान केंद्रित करने के लिए अस्थायी रूप से निलंबित करने का फैसला किया है, तकनीकी दिग्गजों पर जुर्माना लगाया है, और इसके बजाय अर्थव्यवस्था को स्थिर करने के लिए संघर्ष कर रहा है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) अपनी “सामान्य समृद्धि” नीति से दूर जा रही है क्योंकि आर्थिक मंदी के साथ देश निवेशकों के लिए कम आकर्षक बाजार नहीं बनना चाहता है। 
फिर से राष्ट्रपति बनने की तैयारी में शी जिनपिंग

जैसा कि शी इस साल के अंत में तीसरे पांच साल के कार्यकाल के लिए फिर से निर्वाचित होने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने अपने शासन के तहत चीन को अधिक समृद्ध, प्रभावशाली और स्थिर के रूप में चित्रित करने का प्रयास किया है। चीनी अधिकारी जो कुछ महीने पहले तक कॉमन प्रॉस्पेरिटी के एक नए युग का विज्ञापन कर रहे थे तकनीकी दिग्गजों और धनी हस्तियों पर जुर्माना लगाते हुए अब अपना ध्यान अर्थव्यवस्था को स्थिर और विकसित रखने के लिए स्थानांतरित कर दिया है।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

 

Related posts

Leave a Comment