Pizza Hut, KFC का परिचालन करने वाली देवयानी इंटरनेशनल लाएगी IPO,1400 करोड़ जुटाने की योजना

देवयानी इंटरनेशनल आरजे कॉर्प की एक सहयोगी कंपनी है। आरजे कॉर्प पेप्सिको की सबसे बड़ी बॉटलिंग भागीदार है और यह भारतीय रिटेल फूड और बेवरेजेस सेक्टर में कार्यरत है।

नई दिल्‍ली। भारत में पिज्जा हट (Pizza Hut), केएफसी (KFC) तथा कोस्टा कॉफी (Costa Coffee)की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी देवयानी इंटरनेशनल (Devyani International) को भारतीय प्रतिभूति एवं विनियम बोर्ड (Sebi) से 1,400 करोड़ रुपये के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) को मंजूरी मिल गई है। दस्तावेजों के मसौदे के अनुसार, आईपीओ के तहत 400 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयर जारी किए जाएंगे। इसके अलावा प्रवर्तक तथा मौजूदा शेयरधारक 12,53,33,330 इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश (OFS) लाएंगे।

देवयानी इंटरनेशनल ने सेबी के पास मई में आईपीओ के लिए शुरुआती दस्तावेज जमा कराए थे। इस पर सेबी का निष्कर्ष 16 जुलाई को हासिल हुआ है। किसी कंपनी के लिए आईपीओ, अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम (एफपीओ) तथा राइट्स इश्यू के लिए सेबी का निष्कर्ष जरूरी होता है। मर्चेंट बैंकिंग सूत्रों ने कहा कि आईपीओ से 1,400 करोड़ रुपये जुटने की उम्मीद है।

देवयानी इंटरनेशनल आरजे कॉर्प की एक सहयोगी कंपनी है। आरजे कॉर्प पेप्सिको की सबसे बड़ी बॉटलिंग भागीदार है और यह भारतीय रिटेल फूड और बेवरेजेस सेक्‍टर में कार्यरत है। कंपनी यम ब्रांड्स की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी है और यह प्रमुख ब्रांड्स जैसे पिज्‍जा हट, केएफसी, कोस्‍टा कॉफी के अलावा अपने स्‍वयं के ब्रांड्स जैसे वैंगो, फूड स्‍ट्रीट, मसाला ट्विस्‍ट, ले बार, अमरेली और क्रश जूस बार का परिचालन करती है।

वर्तमान में यह 297 पिज्‍जा हट स्‍टोर, 264 केएफसी स्‍ओर और 44 कोस्‍टा कॉफी का परिचालन कर रही है। देवयानी इंटरनेशनल का नेतृत्‍व आरजे कॉर्प के प्रवर्तक रविकांत जयपुरिया करते हैं। कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, सीएलएसए इंडिया, एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेस और मोतीलाल ओसवाल इनवेस्‍टमेंट एडवाइजर्स इश्‍यू के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर्स हैं।

नुवोको विस्टाज को IPO के लिए मिली मंजूरी

निरमा समूह की इकाई नुवोको विस्टाज कॉरपोरेशन लि.को पूंजी बाजार नियामक सेबी से आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) से 5,000 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी मिल गई है। कंपनी सीमेंट विनिर्माण से जुड़ी है। विवरण पुस्तिका के अनुसार आईपीओ के तहत 1,500 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे। इसके साथ ही प्रवर्तक नियोगी एंटरप्राइजेज़ अपनी तरफ से 3,500 करोड़ रुपये के शेयर बिक्री के लिए रखेगी।

नियामक के पास उपलब्ध सूचना के अनुसार नुवोको विस्टाज ने मई में आईपीओ के लिए प्रारंभिक दस्तावेज जमा किए थे। उसे 16 जुलाई को सेबी की टिप्पणियां प्राप्त हुईं। कंपनी आईपीओ के जरिये जुटाई गई राशि का उपयोग कुछ कर्ज के भुगतान और कंपनी कार्यों में करेगी। नुवोको विस्टाज सीमेंट बनाने वाली कंपनी है। उसकी एकीकृत क्षमता 2.232 करोड़ टन सालाना है। उसके 11 सीमेंट कारखाने तथा पांच ग्राइंडिंग इकाइयां और एक ब्लेंडिंग इकाई है। पूर्व में लाफार्ज सीमेंट के नाम से चर्चित कंपनी के छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, राजस्थान और हरियाणा में कारखाने हैं।

पसंद आया तो—— कमेंट्स बॉक्स में अपने सुझाव व् कमेंट्स जुरूर करे  और शेयर करें

आईडिया टीवी न्यूज़ :- से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें यूट्यूब और   पर फॉलो लाइक करें

Related posts

Leave a Comment